बनारस में दूसरे दिन भी बंद रही साड़ी की दुकानें, जीएसटी के विरोध में ३० जून को बनारस बंद  

बनारस में दूसरे दिन भी बंद रही साड़ी की दुकानें, जीएसटी के विरोध में ३० जून को बनारस बंद  जीएसटी पर विचार करते व्यापारी

वाराणसी। जीएसटी के विरोध में बुधवार को भी लगातार दूसरे दिन साड़ी व्यवसाय से जुड़ी सभी दुकानें पूरी तरह से बंद रहीं। बंदी के चलते साड़ी मंडियों में सन्नाटा पसरा रहा। वहीं बनारसी वस्त्र उद्योग संघ के पदाधिकारियों ने बैठक कर ३० जून बनारस बंद की रणनीति बनाई।

ये भी पढ़ें- कन्या भ्रूण हत्या रोकने के लिए अनूठा प्रयास, महिला बाइकर्स ने जन-जन को किया जागरूक

पीलीकोठी में मो. हतीश के प्रतिष्ठान पर बनारसी वस्त्र उद्योग के पदाधिकारियों की बैठक में बनारसी साड़ी उद्योग को जीएसटी के दायरे में लाने का जमकर विरोध किया गया। पदाकिधारियों ने केंद्र सरकार द्वारा थोपे गए जीएसटी को काले कानून की संज्ञा दी। साथ ही जीएसटी से व्यवसाय पर पडऩे वाले प्रतिकूल प्रभाव पर विस्तार से चर्चा की और हर स्तर से विरोध करने की रणनीति बनाई गई।

ये भी पढ़ें- बनारस के डीएम की सूझबूझ से टला बड़ा हादसा, गाड़ी रोक बुझवाई पेट्रोप पंप पर बाइक में लगी आग

उधर, पूर्व विधायक एवं कांग्रेस नेता अजय राय ने व्यापारी के समर्थन में बनारस बंद कर समर्थन किया और कहा कि कांग्रेस सरकारों ने बिना सिले कपड़ों और विशेश रूप से हर भारतीय परिवार की जरूरत वाली बनारसी साड़ी अन्य बनारसी वस्त्रों को हमेशा कर से मुक्त रखा, क्योंकि इसका जहां तमाम बुनकारों के घरों के चूल्हों से सीधा ताल्लुक था।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहांक्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top