जब मुख्यमंत्री योगी के जाते ही उनके कैबिनेट मंत्री और बीजेपी विधायक में हुई नोकझोक 

जब मुख्यमंत्री योगी के जाते ही उनके कैबिनेट मंत्री और बीजेपी विधायक में हुई नोकझोक जब मुख्यमंत्री योगी के जाते ही उनके कैबिनेट मंत्री और बीजेपी विधायक में हुई नोकझोक। 

बाराबंकी। एक तरफ जहां यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सांसदीय क्षेत्र गोरखपुर में आक्सीजन की कमी के चलते माशूम दम तोड़ रहे हैं वही योगी के मंत्री और विधायक कैमरे के सामने ब्यान देने के लिए आपस में नोकझोक कर रहे हैं। ताजा मामला उत्तर प्रदेश के बाराबंकी जिले का है जहा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बाढ़ प्रभावित इलाको का दौरा करने के बाद जब वापिस चले गए तो यहां के स्थानीय बीजेपी विधायक शरद अवस्थी और प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री दारा सिंह चौहान के बीच बाइट देने के चलते नोकझोक हो गयी।

कैबिनेट मंत्री दारा सिंह चौहान मुख्यमंत्री के दौरे को लेकर पत्रकारो से बात करने लगे। तो स्टेज से लगे माइक से रामनगर से बीजेपी विधायक शरद अवस्थी ने चिल्लाते हुए रोक दिया और कहा कि एरिया हमारा, बिना हमारे बाइट नहीं होगी। चाहे आप कैबिनेट मंत्री हो या कोई भी। जिसपर सांसद प्रियंका रावत ने विधायक को फटकार भी लगायी।

ये भी पढ़ें- भारतीय राष्ट्रीय ध्वज वर्तमान रूप में पहुंचने से पहले अनेक पड़ावों से गुजरा है

बाराबंकी के तहसील रामनगर के बाढ़ प्रभावित क्षेत्र हेतमापुर में बाढ़ प्रभावित क्षेत्र का जायजा लेने प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जब राजधानी लखनऊ रवाना हो गए तो प्रदेश के कैबिनेट मंत्री और ज़िला प्रभारी मंत्री दारा सिंह चौहान कुछ पत्रकारों से बात कर सरकार की उपलब्धिया गिननी चाह ही रहे थे की रामनगर विधानसभा के विधायक शरद अवस्थी ने मंच से ही कह दिया कि ये इलाका उनका है कोई भी बाइट उनके बिना नहीं दी जाएगी, और इसी मुद्दे को लेकर विधायक जी के समर्थको ने काफी हंगामा भी किया, नीचे आने पे प्रभारी मंत्री दारा सिंह चौहान और शरद अवस्थी में बहस भी हुई जिसके बाद सांसद प्रियंका सिंह रावत ने हस्तक्षेप करते हुए विधायक को फटकार के चुप कराया।

इस पर विधायक समर्थक भी नाराज हो गए और चिल्लाने लगे। बाद में खुद विधायक ने हस्तक्षेप कर समर्थको को शांत कराया गया, कैबिनेट मंत्री दारा सिंह चौहान से नोक झोक के बारे में पुछा गया तो उन्होंने गोलमोल जवाब देते हुए कहा की विधायक जी किसी को भी नहीं रोक सकते, उन्हें रोकने का सवाल ही नहीं एक तरफ जहा योगी सरकार में बच्चे आक्सीजन की कमी के चलते दम तोड़ देते है वही उनके विधायक और मंत्री बयानबाजी के लिए आपस में तू तू मै मै करते नजर आते है।

ये भी पढ़ें- भारत-पाकिस्तान को मिलाता पीस एंथम सोशल मीडिया पर वायरल, देखें वीडियो

एक तरफ जहा मंत्री और विधायक छोटे-छोटे मामले को लेकर आपस में तू-तू मै-मै करते नजर आते हैं तो वही योगी सरकार के जिलाधिकारी अखिलेश तिवारी मुख्यमंत्री के चरणों को स्पर्श कर आशीर्वाद लेते नजर आते है जी हां सीएम को खुश करने का नया फार्मूला निकाल ही लिए डीएम साहब सोमवार का दिन बाराबंकी के लिए खास था क्योंकि इस दिन सीएम योगी बाराबंकी के बाढ़ग्रस्त इलाके में लोगों से मिलने आये हुए थे लेकिन यह मौका तब असहज हो गया जब बाराबंकी के डीएम अखिलेश तिवारी ने सीएम योगी के हेलीकॉप्टर से उतरते हुए झुककर पैर छू लिए डीम का यह कारनामा चर्चा का विषय बना रहा क्योंकि ऐसा पहले की सरकारों में ही देखने को मिलता था इस सरकार में सीएम योगी ने खुद ही अधिकारियों और नेताओं से चापलूसी ना करने का आदेश दिया है लेकिन फिर भी ना जाने क्यों यूपी के आईएएस और आईपीएस सीएम के पैर छूकर आखिर क्या दिखाना चाहते हैं। बाराबंकी में बाढ़ प्रभावित इलाको का दौरा करने आये मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जैसे ही हेलीकाप्टर से उतरे। आईएएस और जिलाधिकारी अखिलेश तिवारी ने तुरंत उनका पैर छू कर आशीर्वाद लिया।

जनता से मिलने में लापरवाही बरतने के मामले में बाराबंकी के डीएम अखिलेश तिवारी को मुख्यमंत्री कार्यालय से नोटिस मिल चूका है। योगी आदित्यनाथ का हेलीकाप्टर जैसे ही हेलीपैड पर उतरा, और उसमे से मुख्यमंत्री निकल कर पंडाल की तरफ जाने लगे वैसे ही डीएम अखिलेश तिवारी ने उनका पैर छू कर आशीर्वाद लिया। जो चर्चा का विषय बना रहा।

ये भी पढ़ें- भारत की आजादी के 70 साल का सफर बयां करती किताब

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Share it
Top