करवा चौथ पर पतियों की लंबी आयु के बदले पत्नियों ने मांगा शौचालय का उपहार 

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   8 Oct 2017 4:56 PM GMT

करवा चौथ पर पतियों की लंबी आयु के बदले पत्नियों ने मांगा  शौचालय का उपहार फाइल फोटो। 

बिजनौर (भाषा)। उत्तर प्रदेश के बिजनौर के एक गांव में करवा चौथ पर पतियों की लंबी आयु के बदले पत्नियों ने सम्मान का उपहार मांग लिया है। पत्नियों ने अपने पतियों से शौचालय का उपहार मांगा, जो रविवार को करवा चौथ पर उनके पति उन्हे देने जा रहे हैं।

प्रशासनिक सूत्रों के अनुसार नहटौर ब्लाक के गांव खुशहालपुर भटियाना में दस महिलाओं ने अपने पतियों से करवाचौथ पर महंगे जेवर, कीमती साडी को छोड़कर शौचालय का उपहार मांगा। पतियों ने उनको करवाचौथ पर ये तोहफा देने के लिए इज्जतघर (शौचालय) तैयार करा दिए हैं, जो रविवार को करवा चौथ पर पत्नियों को भेंट किए जाएंगे।

उत्तर प्रदेश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

गांव की महिला कुसुम और मीनाक्षी ने बताया कि गांव की प्रधान मधु चौहान से उन्हें यह प्रेरणा मिली है। मुख्य विकास अधिकारी डा. इन्द्रमणि त्रिपाठी के अनुसार गांव की महिलाओं के इस फैसले का असर पूरे देश की महिलाओं पर पड़ेगा।

शौचालय उपहार देने वाल पति को सम्मानित करेगा प्रशासन

सम्भल (उत्तर प्रदेश) में हर घर में शौचालय निर्माण के अभियान को सफल बनाने की दिशा में अनूठी पहल करते हुए सम्भल जिला प्रशासन ने करवाचौथ के अवसर पर पत्नी के लिए उपहारस्वरुप शौचालय का निर्माण करवाने पतियों को सम्मानित करने का एलान किया है।

सम्भल के मुख्य विकास अधिकारी प्रेम प्रकाश त्रिपाठी ने गत छह अक्तूबर को जिले के सभी खण्ड विकास अधिकारियों को जारी आदेश में कहा है कि सभी ग्राम प्रधान तथा ग्राम पंचायत सचिव अपने-अपने गांव में शौचालय विहीन परिवारों को चिन्हित करें। उन परिवारों के मुखिया को प्रेरित करें कि वह इस करवाचौथ पर अपनी पत्नियों को शौचालय का निर्माण करा कर उन्हें तोहफे में दें।

उन्होंने आदेश में कहा कि जो पति इस करवाचाौथ पर छह अक्तूबर से 11 अक्तूबर के बीच अपनी पत्नियों के लिए शौचालय का निर्माण करवाएंगे उन्हें जिला प्रशासन की ओर से एक गोष्ठी आयोजित कर सम्मानित किया जाएगा।

मुख्य विकास अधिकारी ने बताया कि आज भी समाज में खुले में शौच जाने के रुप में बड़ी कुरीति मौजूद है। करवाचौथ महिलाओं का महत्वपूर्ण पर्व है। इसमें महिलाएं अपने पति की लम्बी उम्र के लिए व्रत रखकर कामना करती हैं. ऐसे में उन महिलाओं के पतियों द्वारा उन्हें शौचालय बनवाकर देना, बहुत बड़ा उपहार होगा।

उन्होंने बताया कि छह से 11 अक्तूबर के बीच जो लोग अपने घर में शौचालय का निर्माण कराएंगे उन्हें जनपद स्तर पर सार्वजनिक रुप से जिलाधिकारी भी सम्मानित करेंगे।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top