Top

यूपी : बेलहरा के मूर्ति विसर्जन विवाद मामले में भाजपा के विधायक दल ने सुना लोगों जाना दर्द

यूपी : बेलहरा के मूर्ति विसर्जन विवाद मामले में भाजपा के  विधायक दल ने सुना लोगों जाना दर्दभाजपा के तीन सदस्यीय विधायक दल

बेलहरा (बाराबंकी)। बाराबंकी के बेलहरा कस्बे में मूर्ति विसर्जन का विवाद बढ़ता जा रहा है। बीजेपी के तीन सदस्यीय विधायकों के जांच दल में बेलहरा पहुंचकर लोगों से उनका दर्ज जाना। इस दौरान बाराबंकी की सांसद प्रियंका रावत भी मौजूद रहीं। स्थानीय लोग डीएम और एसपी पर कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।

30 सितंबर को मूर्ति विसर्जन में दिक्कतों को लेकर स्थानीय लोगों में काफी नाराजगी है। लोगों का आरोप है कि पुलिस ने जबरन मूर्तियां विसर्जन कराई और विरोध करने पर लाठीचार्ज किया। लोगों का आरोप है कि पुलिस ने लोगों से अपमानजक व्यवहार किया और मूर्तियां ले जाकर नदी में खउद प्रवाहित कर दीं।विरोध करने पर काफी लोगों से मारपीट की गई। इस विवाद की गंभीरता को देखते हुए आज बीजेपी के तीन विधायक दल के सदस्यों ने गाँव वालों से मिलकर उनका हालचाल जाना।

लाठी चार्ज के ग्यारह दिन बाद तीन बीजेपी के सदस्य दल रामनगर विधायक शरद अवस्थी, बरछावां विधायक व भाजपा पार्टी उपाध्यक्ष राम नरेश रावत लखनऊ विधायक नीरज बौरा और छेत्रीय सांसद प्रियंका रावत व जिलाध्यश्च इस मामले की जांच करने लगभग 10:30 बजे कस्बा बेलहरा बाबा साहब मंदिर पहुंचे। इस दौरान कई लोगों ने अपनी शरीर पर लाठियों के निशान दिखाए।

ये भी पढ़ें- बाराबंकी में हिंदू मुस्लिम समुदाय के लोगों ने मिलकर बनवाया मंदिर

जांच दल को समस्याएं बताते स्थानीय लोग। फोटो- वीरेंद्र सिंह

ये भी पढ़ें-मैं मेरे गाँव को क्या दूंगा ये सभी को संकल्प करना होगा - पीएम मोदी

जहॉ पर तीनो सदस्य दलों ने विवाद के बारे में ग्रामीणों और मौके पर मौजूद कई पुलिस और प्रशासन के कर्मचारियों से पूछताछ की। हालांकि पुलिस ने मूर्ति विसर्जन और श्रद्धालुओं पर लाठी चार्ज करने की बात स्वीकार नहीं की। लेकिन मंदिर परिसर में ग्रामीणों ने जांच दल को खुलकर अपनी बात बताई।

बाबा साहब मंदिर के महंत ने बताया, “मूर्ति विसर्जन की रात करीब 1:00 बजे पुलिस अपना तांडव शुरू कर दिया जिसमें मंदिर परिसर में बैठे श्रद्धालुओं पर भी अन्दर घुसकर लाठी चलाईं।” बाबा साहब मंदिर के बाद जांच दल सुरजनपुर गांव पहुंचा। जांच कमेटी व क्षेत्रीय सांसद को अपने बीच पाकर लोगों का दर्द छलक पड़ा ।

बीजेपी का तीन सदस्यीय जांच दल बुधवार को पहुंचा था बेलहरा।

बाबा संगत के गणेश मुनि ने लोगों ने अपने कपड़े उतारकर पुलिस की बर्बरता के निशान दिखाएं जो 11 दिन बाद भी साफ झलकते दिखे। लोगों ने जांच टीम को मुहारी गांव ले जाकर मंदिर में खंडित मूर्ति और लोगों के टूटे खिड़की दरवाजे दिखाए।

लोगों ने जांच टीम से ग्रामीणों पर दर्ज किए गए मुकदमों को वापस लेने, और आरोपी जिले के अधिकारियों को निलंबित करने की मांग की। इसके साथ आने वाले वर्षों में कोई विवाद न हो इसके लिए सीधए रास्ते की भी मांग की गई।

यूपी : बाराबंकी के बेलहरा में मूर्ति जुलूस के रास्ते को लेकर तनाव, पुलिस मौके पर

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.