घाघरा नदी में बोतल फेंक विवादों में घिरी बीजेपी सांसद प्रियंका रावत 

घाघरा नदी में बोतल फेंक विवादों में घिरी बीजेपी सांसद प्रियंका रावत निरिक्षण करने आए मंत्री और सांसद के लिए नदी में बिछा कारपेट 

बाराबंकी। प्रदेश के बाराबंकी,गोंडा और बहराइच की सीमा से गुजरने वाली घाघरा नदी पर टूटे बांध का निरीक्षण करने पहुंची स्थानीय बीजेपी सांसद प्रियंका सिंह रावत के नदी में प्लास्टिक की बोतल फेंकते हुए वीडियों आने के बाद एकबार फिर वो विवादों में घिरती नजर आ रही है।

शुक्रवार को प्रदेश सरकार के सिंचाई मंत्री धर्मपाल और स्थानीय सांसद प्रियंका सिंह रावत एल्गिन चरसरी बांध का निरीक्षण करने पहुँचे तो उनके लिए घाघरा नदी के अंदर रेड कारपेट बिछायी गयी और इसके बाद सांसद नदी में बोतल फेंकते नजर आईं। यह हालत तब है जब केंद्र सरकार नदियों की सफाई को लेकर बड़े स्तर पर काम कर रही हैं।

दरअसल गर्मियों के मौसम में घाघरा नदी पूरी तरह से सूख जाती है जिसके बाद घाघरा नदी में हर तरफ बालू ही बालू नजर आता है। उस बालू में मंत्री के पैर ना धसे इसीलिए नदी के अंदर रेड कारपेट बिछा दी गयी। इस मामले में मंत्री से सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘‘नदी के अंदर कारपेट बिछाना गलत है इसके लिए उन्होंने अधिकारियों को फटकार भी लगायी है।’’

एल्गिंन चरसरी बांध का निरीक्षण करने पहुंचे सिंचाई मंत्री धर्मपाल सिंह के साथ बाराबंकी की हमेशा से चर्चा में रहने वाली बीजेपी सांसद प्रियंका सिंह रावत भी मौजूद थीं। बांध का निरीक्षण करने के बाद मंत्री का काफिला मोटरबोट पर रवाना होकर घाघरा नदी के दूसरे ओर भी गया इस दौरान बीजेपी की सांसद ने पीने के लिए मिनरल वाटर की बोतल निकाली और पानी पीने के बाद खाली प्लास्टिक की बोतल को घाघरा नदी में फेंकती नजर आयीं।

इससे पहले भी प्रियंका सिंह रावत एक अधिकारी को धमकाने के मामले में विवादों में रह चुकी हैं।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top