बोलने लगा पूर्ववर्ती अखिलेश यादव सरकार का भ्रष्टाचार : डॉ. चन्द्रमोहन

बोलने लगा पूर्ववर्ती अखिलेश यादव सरकार का भ्रष्टाचार : डॉ. चन्द्रमोहनबीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता डॉ. चंद्रमोहन ने पूर्व सीएम अखिलेश यादव की आलोचना की।

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी ने एक बार फिर से पूर्ववर्ती अखिलेश यादव सरकार को भ्रष्टाचार के मामले में आड़े हाथों लिया है। बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता डॉ. चंद्रमोहन ने कहा कि विधानसभा चुनाव के दौरान ‘काम बोलता है’ जैसा हास्यास्पद नारा देने वाली प्रदेश की पूर्ववर्ती अखिलेश यादव सरकार का भ्रष्टाचार अब जमकर बोल रहा है।

प्रदेश पार्टी मुख्यालय पर पत्रकारों से चर्चा करते हुए प्रदेश प्रवक्ता डॉ. चन्द्रमोहन ने कहा कि इस सरकार ने तो कैंसर पीड़ितों को भी नहीं छोड़ा। इनके नाम पर चक गंजरिया सिटी में बने कैंसर अस्पताल में पैथोलाजी, रेडियोलाजी जैसी सुविधा ही नहीं है, लेकिन पूर्ववर्ती मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने इसका उद्घाटन करने में जरा भी देर नहीं की। ऐसा करके पूर्व मुख्यमंत्री ने कैंसर मरीजों के साथ एक बहुत बड़ा अपराध किया है। जनता के पैसे के ऐसे दुरुपयोग से प्रदेश की जनता अखिलेश यादव को कभी माफ नहीं करेगी। पिछली सपा सरकार में शुरू हुआ कोई ऐसा प्रोजेक्ट नहीं है, जिसके बजट में अंधाधुंध इजाफा नही हुआ हो। हैरत करने वाली बात तो यह है कि गोमती रिवर फ्रंट जैसे बड़े प्रोजेक्ट में बगैर डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) के काम करवाया गया।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

प्रदेश प्रवक्ता डॉ. चन्द्रमोहन ने कहा कि डीपीआर नहीं बनाए जाने से स्पष्ट होता है कि पूर्ववर्ती अखिलेश यादव सरकार ने विदेशी सामान के नाम पर सरकारी खजाने की लूट की है। जय प्रकाश नारायण इंटरनेशनल सेंटर (जेपीएनआइसी) लखनऊ में लगाए गए लाल पत्थर और सोलर ट्री विदेशों से ऊंची कीमतों पर मंगाए गए हैं। लखनऊ में जनेश्वर मिश्र पार्क में 20 करोड़ रुपए खर्च करके 14 डीप बोरिंग वाले पंपसेट लगवाए। इससे पानी निकाल कर पार्क की झील को भरा जाता हैं। वहीं दूसरी ओर पार्क में रेनवाटर हार्वेस्टिंग पर भी पांच करोड़ रुपए खर्च किए गए। अगर पानी बचाने की चिंता थी, तो इतने सारे डीप बोरिंग वाले पंपसेट क्यों लगाए गए ? फिर जनेश्वर मिश्र पार्क तो ग्रीन बेल्ट है। यहां रेनवाटर हार्वेस्टिंग का काम तो प्राकृतिक ढंग से होना चाहिए था, फिर इसके लिए पांच करोड़ रुपए क्यों खर्च हुए।

ये भी पढ़ें : शिवपाल के सहारे भाजपा ने किया अखिलेश यादव पर हमला

प्रदेश प्रवक्ता डॉ. चन्द्रमोहन ने कहा कि सपा सरकार में शुरू हुए प्रोजेक्ट के बहाने पूर्ववर्ती मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के चहेते अधिकारियों और नेताओं ने जमकर जनता के धन की लूट की है। पूर्ववर्ती अखिलेश यादव सरकार का कोई ऐसा प्रोजेक्ट नहीं है, जिसमें भ्रष्टाचार नहीं हुआ हो। जनता के सामने इनकी कलई खुल चुकी है। सदियों तक प्रदेश की जनता इन्हें इनकी कारगुजारियों के लिए माफ नहीं करेगी।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top