सरयू नदी में नाव पलटने से छह की मौत, मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख रुपये की सहायता  

सरयू नदी में नाव पलटने से छह की मौत, मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख रुपये की सहायता  नाव पलटने से छह की मौत।

बहराइच (उत्तर प्रदेश)(भाषा)। बहराइच में सरयू नदी में नाव पलटने से छह लोगो की डूबकर मौत हो गई। शव नदी से बाहर निकाले जा रहे हैं। नदी तट पर कोहराम मचा है। बताया जा रहा है कि यह लोग जर्जर नाव से नदी पार कर रहे थे। तड़के सुबह चार बजे की घटना बताई जा रही है। घटना रामगांव के पिपराघाट की घटना।

सभी लोग देहात कोतवाली थाना क्षेत्र के बेड़नापुर में लगे मेटारिया मेले से घर वापस लौट रहे थे। मृतकों में दो बच्चे और तीन गांवों के लोग शामिल है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हादसे में छह लोगों के मारे जाने पर शोक जताते हुए उनके निकट परिजन को दो-दो लाख रुपये की सहायता राशि देने की घोषणा की है।

कोतवाली देहात क्षेत्र में शनिवार को सरयू नदी के किनारे लगे मेला देखने जा रहे लोगों से भरी नाव नदी में डूब गई। अब तक नदी से छह लाशें निकाली जा चुकी हैं। बाकी लोगों की तलाश जारी है। नदी में 12 से अधिक लोगों के डूबने की आशंका है। नाव में क्षमता से अधिक लोग सवार थे, इसी वजह से यह हादसा हुआ। फिलहाल जो लोग इस हादसे के बाद गायब हैं, उनको खोजने में प्रशासन जुट गया है, जो लोग लापता हैं, उनके रिश्तेदार भी बेहद परेशान हैं।

जिलाधिकारी अजयदीप सिंह ने बताया कि रामगांव इलाके में लगा मेला देखने के लिए कल रात पास के गांव के कुछ लोग आये थे। आज सुबह नौ लोग नाव से सरयू नदी पार कर वापस जा रहे थे, उसी दौरान हादसा हुआ। नाव में पानी भरने से वह डूब गयी।

जिलाधिकारी ने बताया कि नाव में सवार तीन लोग तैरना जानते थे, वह सुरक्षित बाहर निकल आये और अन्य को बचाने के लिए मदद मांगने लगे। उन्होंने बताया कि शनिवार सुबह छह बजे डायल 100 से जिला प्रशासन को सूचना मिलते ही पुलिस व प्रशासन का पूरा अमला राहत कार्य में लग गया।

ये भी पढ़ें:यहां सड़क पर नहीं नाव पर चलती हैं माेटरसाइकिलें

उन्होंने कहा कि नाव दुर्घटना में मारे गऐ सभी छह लोगों के शव बरामद कर उन्हें पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा है। मौके पर मौजूद अपर जिलाधिकारी संतोष राय ने बताया कि हादसे में मारे गये लोगों की पहचान गोपालपुर और बेहटा निवासियों विजय (16), बृजेश (20), राजेश (25), तीरथ (12), मगन (17) और शकील (12) के रुप में हुई है।

राय ने कहा, प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि नाव में सवार बच्चे व युवक बिना चप्पू के हाथ व चप्पलों से नाव चलाने की कोशिश कर रहे थे। वह नदी की आधी चौड़ाई पार भी कर चुके थे। लेकिन बीच नदी में पहुंचने के बाद नाव में पानी भरना शुरु हो गया और वह डूब गयी। मामले की जांच की जा रही है।

ये भी पढ़ें:बागपत: यमुना नदी में नाव पलटी, 19 की मौत

ये भी पढ़ें:ये किसान नाव पर अपना ट्रैक्टर कहां ले जा रहा है ?

ये भी पढ़ें:यहां पर सीता की नाव रोज़ नदी के बहाव को देती है मात

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top