इंजीनियरिंग के फार्मूले का इस्तेमाल कर सालभर उगा रहा गोभी

Anand TripathiAnand Tripathi   22 Nov 2017 5:34 PM GMT

इंजीनियरिंग के फार्मूले का इस्तेमाल कर सालभर उगा रहा गोभीगोभी की फसल दिखाते किसान अमित मौर्या।

लखनऊ। एक तरफ लोग पढ़ने लिखने के बाद बड़ी मल्टीनेशनल कंपनियों में नौकरी करना चाहते हैं, वहीं पर एक इंजीनियर ऐसा भी है जो इंजीनियरिंग के साथ ही खेती में भी हाथ आजमा रहा है। वो 12 महीने उगने वाली गोभी की खेती कर अच्छा मुनाफा कमाकर दूसरे किसानों कें लिए भी प्रेरणा बन रहे हैं।

लखनऊ के बख्शी का तालाब ब्लॉक के कोटवा गाँव के अमित मौर्या पेशे से तो इंजीनियर हैं और लखनऊ के ओम साईं इंटरप्राइजेज में काम करते हैं। इसी के साथ ही खेती का शौक भी रखते हैं। अमित मौर्या ने एक ऐसी तकनीक इजाद की है, जिससे गोभी की फसल सालभर की जा सकती है। अमित मौर्या बताते हैं, "हम लोग छह एकड़ में खेती करते हैं, जिसमें ड्रिप तकनीक का इस्तेमाल करते हैं, जिससे पानी की बचत होती है और हैवी और नॉर्मल फर्टिलाइजर को मिलाकर रात में छिड़काव करते हैं, जिससे गोभी की उपज बारह महीने होती रहती है।"

अपनी तकनीक के बारे में अमित मौर्या बताते हैं, "मैं कई तरह की दवाओं को मिलाकर एक दवा बनाता हूं, जिसका छिड़काव फसलों पर करता हूं, जिससे फसल भी सुरक्षित रहती है और मुझे अच्छी उपज मिलती है।"

ये भी पढ़ें- मुनाफे का मंत्र : ‘सीजन में तो सब खेती करते हैं मैं ऑफ सीजन में गोभी उगाता हूं इसलिए पैसे कमाता हूं’

इंजीनियरिंग के साथ-साथ खेती के लिए समय निकालकर वह युवाओं के लिए एक मिसाल साबित हो रहे हैं। मौर्या बताते हैं, "मैं सुबह पांच बजे उठकर खेतों में काम करता हूं, फिर वहां से फसल तोड़कर मंडी पहुंचाता हूं इसके बाद दस बजे तक मुझे ऑफिस पहुंचना होता है और छुट्टी के दिन पूरा समय खेतों में लगाता है।" वह आगे बताते हैं, "इस काम में पिताजी और भाई का भी सहयोग मिलता है। गोभी फसल से मुझे सालभर में चार-पांच लाख रुपए की आमदनी हो जाती है।"

पॉलीहाउस बनाने की तैयारी

अमित बताते हैं, “गर्मी के सीजन में जब तापमान 40 डिग्री के पार हो जाता है। तो गोभी की फसल थोड़ी खराब हो जाती है। इसलिए जल्द ही पॉली हाउस बनाने की तैयारी में हूं, जिससे फसल को खराब होने से बचाया जा सके।"

ये भी पढ़ें- दीवारों पर होती है गेहूं, धान, मक्का और सब्जियों की खेती, जानिए कैसे ?

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top