Top

यूपी : मुख्यमंत्री ने दिए रिवर फ्रंट घोटाले की न्यायिक जांच के आदेश, 45 दिन में देनी होगी रिपोर्ट

यूपी : मुख्यमंत्री ने दिए रिवर फ्रंट घोटाले की न्यायिक जांच के आदेश, 45 दिन में देनी होगी रिपोर्टपरियोजना का निरीक्षण करते मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ।

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रिवर फ्रंट डेवलपमेंट परियोजना का निरीक्षण किया था। तब मुख्यमंत्री ने संबंधित अधिकारियों को फटकार भी लगायी थी। अधिकारियों को जवाब से असंतुष्ट मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज रिवर फ्रंट घोटाले की न्यायिक जांच के आदेश दे दिए हैं आैर इसकी रिपोर्ट 45 दिन में ही देने का आदेश दिया है।

गोमती से उठती बदबू और सतह पर जमी काई। मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी की नजर जैसे ही इस दृश्य पर पड़ी थी तो उनका पारा सातवें आसमान पर चढ़ गया था। गोमती रिवर फ्रंट डवलपमेंट परियोजना का निरीक्षण करने के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सिंचाई विभाग के अफसरों पर बरसे थे। परियोजना का मानचित्र लेकर उनके सामने खड़े सिंचाई विभाग के मुख्य अभियंता पीके सिंह के पास किसी बात का संतुष्टिपरक जवाब नहीं था। 1427 करोड़ रुपए का खर्च इस परियोजना पर किया जा चुका है।

ये भी पढ़ें-1427 करोड़ में गोमती को मिली सड़ांध और 26 नालों की गंदगी

मगर लखनऊ की लाइफ लाइन कही जाने वाली गोमती में अभी 26 नाले सीधे गिर रहे हैं। परियोजना तय समय पर पूरी नहीं हो सकी है। यहां तक की मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी को दिखाने के लिए सिंचाई विभाग के अफसरों के पास परियोजना की विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (डीपीआर) तक नहीं थी। दरअसल इस परियोजना की डीपीआर तक नहीं बनाई गई है। आखिरकार योगी ने अफसरों को स्पष्ट कर दिया कि, मई महीना समाप्त होना तक सभी नाले गोमती में गिरना बंद हो जाएं। इन्होंने इसके साथ ही रिवर फ्रंट परियोजना को कुड़िया घाट से कलाकोठी घाट तक विस्तार देने का भी आदेश दिया।


ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.