स्वाइन फ्लू का प्रसार रोकने में न हो कोई हीलाहवाली - सीएम योगी आदित्यनाथ 

स्वाइन फ्लू का प्रसार रोकने में न हो कोई हीलाहवाली - सीएम योगी आदित्यनाथ योगी आदित्यनाथ।

लखनऊ। स्वाइन फ्लू के बढ़ते कहर से निपटने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बुधवार को खुद ही फील्ड में उतरे। मुख्यमंत्री ने संजय गांधी पीजीआई में स्वाइन फ्लू के रोगियों के लिए किये गये इंतजामों को परखने के लिए निरीक्षण किया।

यहां वे स्वाइन फ्लू वार्ड के नजदीक तक गए। मगर चिकित्सकों ने उनको वार्ड में नहीं जाने दिया। योगी ने चिकित्सकों को आदेश दिया कि, रोग के प्रसार को रोकने के लिए हर संभव प्रयास करें। मरीजों को बेहतर इलाज दिया जाए। जरूरी जागरूकता अभियान भी चलाया जाए। अकेले राजधानी में पिछले 10 दिन में स्वाइन फ्लू के 70 रोगी सामने आ चुके हैं।

योगी आदित्यनाथ

ये भी पढ़ें-लखनऊ यूनिवर्सिटी की छात्रा से छेड़खानी के बाद पिटाई, पुलिस ने की F.I.R. दर्ज

दो दिन पहले अफसरों की मीटिंग में सीएम ने स्वाइन फ्लू और डेंगू को लेकर सख्त कदम उठाने का निर्देश अफसरों को दिये थे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सुबह करीब 10:30 बजे पीजीआई पहुंचे। यहां उन्होंने पीजीआई के निदेशक डाक्टर राकेश कपूर से मुलाकात की। जहां उन्होंने अस्पताल का निरीक्षण किया। स्वाइन फ्लू के पीड़ितों के लिए किये गये इंतजामों को परखा।

मुख्यमंत्री योगी पहुँचे pgi

ये भी पढ़ें-मिस्ड कॉल कर सुन सकते हैं कहानियां

मुख्यमंत्री को निदेशक राकेश कपूर ने जरूरी जानकारियां दीं। आखिरकार मुख्यमंत्री खुद स्वाइन फ्लू मरीजों के लिए बनाए गए आइसोलेशन वार्ड में जाने लगे, जिस पर वरिष्ठ चिकित्सकों ने उनको मना कर दिया। जिसके बाद योगी ने डाक्टरों से कहा कि वे स्वाइन फ्लू और डेंगू के प्रसार को रोकने के लिए हर संभव प्रयास करें। स्वास्थ्य कर्मचारियों का भी ख्याल रखा जाए, ताकि उनको संक्रमण न हो। लखनऊ में इस साल अब तक स्वाइन फ्लू के कुल 70 मामले दर्ज हो चुके हैं।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहांक्लिक करें।

Share it
Top