यूपी के चित्रकूट में पुलिस और डकैतों के बीच मुठभेड़, एक दरोगा शहीद, एसओ घायल

यूपी के चित्रकूट में पुलिस और डकैतों के बीच मुठभेड़, एक दरोगा शहीद, एसओ घायलमुठभेड़ वाली जगह, दायीं तरफ- शहीद सब-इंस्पेक्टर जय प्रकाश सिंह।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के चित्रकूट के माणिकपुर में पुलिस और डैकतों के बीच मुठभेड़ जारी है। इस मुठभेड़ में सब-इंस्पेक्टर जय प्रकाश सिंह शहीद हो गए हैं, जबकि एसओ बहिलपुरवा वीरेंद्र त्रिपाठी को गोली लगी है। यूपी के बड़े अधिकारी मौके पर रवाना हो चुके हैं। खबर लिखे जाने तक मुठभेड़ जारी है। कुछ डकैतों को भी गोली लगने की खबर है। इनकाउंटर के लिए मध्य प्रदेश पुलिस से भी संपर्क किया जा रहा है। यूपी एसटीएफ की टीम भी मौके पर भेजी जा रही है।

चित्रकूट जिले के मानिकपुर के जंगल में गुरुवार सुबह 7 लाख के इनामी डकैत बबुली कोल और उसके गिरोह के साथ हुई मुठभेड़ में रैपुरा थाने में तैनात सब इंस्पेक्टर जयप्रकाश सिंह शहीद हो गए। इस मुठभेड़ में एक घायल डकैत समेत तीन डकैतों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। सुबह करीब 5.30 बजे शुरू हुई मुठभेड़ छह घंटे से ज्यादा का समय होने के बाद भी जारी है। पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली थी कि खुंखार बबुली कोल गिरोह जंगल किनारे के गांव निही चिरैया के करीब वन विभाग की चौकी के आसपास मौजूद है।

ये भी पढ़ें- डकैत ददुआ से लोहा लेने वाली ‘शेरनी’ छोड़ना चाहती है चंबल, वजह ये है

बबली कोल।

इस पर पुलिस कप्तान ने मऊ और मानिक सर्किल की दो पुलिस टीमें बनाकर जंगल की तरफ रवाना किया। पुलिस को देखते ही डकैत गिरोह ने गोलियां चलानी शुरू कर दी, पुलिस जब तक संभलती दरोगा जयप्रकाश सिंह के पेट और पैर में दो गोलियां लगीं। पुलिस जब तक उनको जंगल के बाहर लाती उनकी मौत हो गई।

इसके बाद पुलिस की दोनों टीमों ने डकैतों को घेर कर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी.। शहीद दरोगा जेपी सिंह मूल रूप से जौनपुर के नेवरिया थाना क्षेत्र के बनोवरा गांव के रहने वाले हैं। वहीं पुलिस की गोली से एक डकैत राजू कोल घायल हो गया। पुलिस ने घेराबंदी कर राजू कोल समेत तीन तकैतों को पकड़ लिया है।

एडीजी लॉ एंड आर्डर आनंद कुमार ने बताया कि अभी भी एनकाउंटर चल रहा है। उन्होंने बताया कि डकैतों को भी गोली लगी है। उन्होंने कहा कि दरोगा जेपी सिंह शहीद हो गए हैं। उन्होंने कहा कि फिलहाल मौके पर पुलिस की पांच टीम लगाई गई है। एसपी प्रताप गोपेन्द्र के नेतृत्व में मुठभेड़ जारी है। अपुष्ट ख़बरों के मुताबिक डकैत लवलेश कोल की भी मुठभेड़ में मौत हो गई है, हालांकि अभी इसकी पुष्टि पुलिस ने नहीं की है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शहीद सब इंस्पेक्टर को श्रद्धांजलि दी है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top