संदिग्ध आतंकी पहुंचा सलाखों के पीछे  

संदिग्ध आतंकी पहुंचा सलाखों के पीछे  यूपी के महाराजगंज से गिरफ्तार संदिग्ध आतंकी को कोर्ट ने जेल भेजने के दिए आदेश  

महराजगंज (भाषा) : उत्तर प्रदेश में भारत-नेपाल सोनौली बार्डर पर एसएसबी द्वारा गिरफ्तार किये गए संदिग्ध आतंकी नसीर अहमद वानी को शनिवार को सीजेएम कोर्ट ने 14 दिन की न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया |आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन के संदिग्ध सक्रिय सदस्य नासिर को सीमा सुरक्षा बल एसएसबी ने 14 मई को भारत- नेपाल सीमा स्थित सोनौली बाॅर्डर पर पकडा था | शासकीय अधिवक्ता रघुवंश शुक्ल ने बताया कि पकडे गए नासिर को 16 मई को पूछताछ के लिए कोर्ट ने एटीएस को 12 दिन की रिमांड पर सौपा था। रिमांड अवधि पूरी होने के बाद उसे आज सीजेएम मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट महराजगंज की अदालत में पेश किया गया, जहां से अदालत ने उसे न्यायिक अभिरक्षा में 14 दिनों के लिए जेल भेज दिया |

ये भी पढ़े ... जम्मू एवं कश्मीर में घुसपैठ की कोशिश नाकाम, छह आतंकवादी ढेर

नासिर को जम्मू कश्मीर पुलिस ने पूछताछ के लिए अदालत से उसे रिमांड पर लेने की मांग की थी, लेकिन अदालत ने उसे स्वीकार नहीं किया । जम्मू कश्मीर पुलिस का कहना था कि उसके खिलाफ वहां मुकदमे दर्ज है, पूछताछ से मामलों का खुलासा करने में आसानी होगी।

गौरतलब है कि जम्मू कश्मीर के रामबन जिले के बनिहाल के रहने वाले नसीर अहमद उर्फ सादिक (34) को महाराजगंज के सौनौली सीमा चौकी के पास से 13 मई को गिरफतार किया गया था। वह शाल और कालीन विक्रेता के रुप में नेपाल के रास्ते भारत में घुसने की कोशिश कर रहा था, तभी सशस्त्र सीमा बल के जवानों ने उसे धर दबोचा था |

ये भी पढ़े ... इराक में हवाई हमले, आईएस के 27 आतंकवादी ढेर

नसीर के पास से एक पाकिस्तानी पासपोर्ट और पहचान पत्र मिला था, जिसके अनुसार वह पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के गुजरात जिले के लाला मूसा गांव का रहने वाला था । सशस्त्र सुरक्षा बल ने नसीर को पकडकर उत्तर प्रदेश एटीएस के हवाले कर दिया था |

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top