झांसी : एडीएम ऑफिस के बाबू पर आईएसआई के लिए जासूसी करने का आरोप, हिरासत में

झांसी : एडीएम ऑफिस के बाबू पर आईएसआई के लिए जासूसी करने का आरोप, हिरासत मेंएटीएस ने एडीएम (न्याय) कार्यालय में तैनात एक बाबू को हिरासत में लिया है। 

लखनऊ। यूपी एटीएस ने शुक्रवार को झांसी जिले के एडीएम (न्याय) कार्यालय में तैनात एक बाबू को हिरासत में लिया है। उस पर पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के लिए जासूसी का आरोप है। आरोपी झांसी में एडीएम (न्याय) ऑफिस में स्टेनो पद पर तैनात है। वहीं एटीएस टीम ने एडीएम कार्यालय में रखे रखे कंप्यूटर्स को सीज कर अपने कब्जे में ले लिया है। साथ ही एटीएस को कुछ अहम दस्तावेज भी बरामद हुए है।

आईजी एटीएस असीम अरुण ने बताया, काफी दिनों से खबर मिल रही थी कि झांसी के एडीएम ऑफिस से पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई को सेना से जुड़ी गोपनीय सूचना लीक कर भेजी जा रही है। स्टेनो राघवेंद्र उसी डेस्क पर तैनात था, जहां से सूचनाएं लीक हो रही थी। इसके चलते उसे शक के आधार पर हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। वहीं झांसी जिले में सेना की सबसे बड़ी छावनी है, जिसे सुरक्षा के लिहाज से अति संवेदनशील माना जाता है।

ये भी पढ़ें- रेलवे ने टिकट कैंसिलेशन से कमाए 1,400 करोड़ रुपए

झांसी के कलेक्ट्रेट ऑफिस स्थित एडीएम का ऑफिस है। जहां राघवेंद्र परिहार स्टेनो पद पर तैनात है। राघवेंद्र की यहां तैनाती करीब डेढ़ महीने पहले ही हुई थी। एटीएस सूत्रों की माने तो उसे शक है कि, स्टेनो राघवेंद्र पिछले लंबे समय से पाकिस्तान की सुरक्षा एजेंसी आईएसआई को सेना की खुफिया जानकारी भेज रहा है।

ये भी पढ़ें- जान लेती हताशा : लखनऊ में एक प्रेमी और दो प्रेमिकाओं ने दी जान, देश में हर घंटे 4 लोग कर रहे खुदकुशी

एटीएस उसे हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। बता दें कि, राघवेंद्र झांसी के कोतवाली थाना क्षेत्र के नई बस्ती पठौरिया में रहता है। एटीएस सूत्रों की मानें तो राघवेंद्र को शायद आईएसआई ने हनी ट्रैप के जाल में फंसा कर अपने लिए जासूसी के लिए मनाया है। हालांकि इसकी अबतक कोई आधिकारिक पुष्टी नहीं हुई है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top