सीएम योगी आदित्यनाथ की लखनऊ मंडल के अधिकारियों के साथ हुयी बैठक, जमकर फटकार लगाई 

सीएम योगी आदित्यनाथ की लखनऊ मंडल के अधिकारियों के साथ हुयी बैठक, जमकर फटकार लगाई मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 

लखनऊ। सीएम योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को लोक भवन छोड़ राजधानी के कलक्ट्रैट परिसर में बने डॉ0 एपीजे अब्दुल कलाम सभागार में ही लखनऊ मंडल से जुड़े अधिकारियों के साथ एक बैठक बुलाई। इस बैठक में जिले के कप्तान, डीएम सहित मुख्य विकास अधिकारी मौजूद रहें। सीएम ने इस दौरान मंडल से जुड़े सभी विकास कार्यों की समीक्षा रिपोर्ट लेने के साथ-साथ बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर पुलिस अधिकारियों को जमकर लताड़ लगाई। वहीं इस सभागार में योगी सरकार में कई मंत्रीगण, सांसद और विधायक भी मौजूद रहें।

ये भी पढ़ें- लालू की पांचवीं बेटी हेमा यादव पर सुशील मोदी ने लगाया गंभीर आरोप

कलक्ट्रैट परिसर में आयोजित बैठक से बाहर आने पर प्रदेश की महिला कल्याण मंत्री व सीतापुर जिले की प्रभारी मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने सीतापुर ट्रिपल मर्डर की घटना पर कहा कि, सीएम ने सीतापुर की घटना को लेकर अधिकारियों से जानकारी ली और मामले के जल्द खुलासे को लेकर पुलिस अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए हैं। साथ ही सीएम ने मंडल के विकास कार्यों को लेकर अधिकारियों को युद्ध स्तर पर काम करने के निर्देश दिए हैं।

उत्तर प्रदेश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

वहीं अपराधियों पर लगाम लगाने के लिए सीएम ने पुलिस को पेट्रोलिंग बढ़ाने को कहा है। कुल मिलाकर बैठक के दौरान 23 मुद्दों पर सीएम ने चर्चा की है। उधर लखनऊ की मोहनलाल गंज सीट से सांसद व भाजपा की अनूसूचित जाति मोर्चा के अध्यक्ष कौशल किशोर ने भी बताया कि, बिगड़ती कानून-व्यवस्था को लेकर सीएम ने सख्त रुख अपनाया है और अधिकारियों को कड़े लहजे में अपराध पर अंकुश लगाने के निर्देश दिए हैं। वहीं उन्नाव जनपद से बीजेपी सांसद साक्षी महाराज ने बैठक से निकलकर कानून व्यवस्था पर बोलते हुए कहा कि, जब भी किसी का स्थानांतरण होता है चाहे वो डीएम,एसपी का हो या सीएम का तब ऐसे शरारती तत्व प्रदेश की छवि खराब करने के लिए अराजकता फैला कर माहौल खराब करने का प्रयास करते हैं।

ये भी पढ़ें- किसानों को ऋण अदायगी का नोटिस नहीं जारी करें बैंक : योगी अादित्यनाथ

साक्षी माहराज ने आरोप लगाया कि, मुझे ऐसा लगता है कि कुछ असामाजिक तत्वों के द्वारा ही कानून-व्यवस्था को खराब कर सरकार की छवि को धूमिल करने का प्रयास किया जा रहा है। वहीं कलक्ट्रैट परिसर में आयोजित बैठक में सीएम करीब चार घंटे तक रुके, इसमें लखनऊ, हरदोई, रायबरेली, सीतापुर, उन्नाव और लखीमपुर खीरी जनपद के अधिकारी शामिल हुए। बैठक के दौरान सीएम ने बारी-बारी सभी अधिकारियों से उनके विकास कार्यों की जानकारी ली।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top