शीतलहर का प्रकोप जारी, पांच की मौत

शीतलहर का प्रकोप जारी, पांच की मौतशीतलहर का प्रकोप जारी

लखनऊ (भाषा)। उत्तर प्रदेश के ज्यादातर स्थानों पर भयंकर शीतलहर का प्रकोप जारी है। बर्फीली पछुआ हवा के कारण दिन के तापमान में गिरावट का सिलसिला बरकरार रहने से लोगों को नश्तर सी चुभने वाली सर्दी का सामना करना पड़ रहा है। पिछले 24 घंटों के दौरान बदायूं में ठंड लगने से दो बच्चों और आजमगढ़ में कोहराजनित हादसे में तीन लोगों की मौत हो गयी।

आंचलिक मौसम केंद्र की रिपोर्ट के मुताबिक प्रदेश के लगभग सभी मण्डलों में दिन के तापमान में खासी गिरावट आयी है। पिछले 24 घंटों के दौरान बरेली, गोरखपुर तथा मुरादाबाद मण्डलों में अधिकतम तापमान में काफी गिरावट दर्ज की गयी। इसके अलावा गोरखपुर, फैजाबाद, बरेली, मुरादाबाद, आगरा, मेरठ तथा कानपुर मण्डलों में दिन का तापमान सामान्य से काफी नीचे रहा।

ये भी पढ़ें - गाँव वाले गर्मी, बरसात और शीतलहर से निहत्थे लड़ते हैं

पिछले 24 घंटों के दौरान आगरा और मेरठ मण्डलों में रात के तापमान में खासी गिरावट हुई। बाकी मण्डलों में यह सामान्य रहा। इस अवधि में मुजफ्फरनगर राज्य का सबसे ठंडा स्थान रहा, जहां न्यूनतम तापमान 3.40 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। राजधानी लखनऊ और आसपास के क्षेत्रों में आज भी हल्की धूप निकली, मगर बर्फीली हवाएं चलने के कारण ठंड से कोई राहत नहीं मिली। लगभग समूचे उत्तर प्रदेश में लोग नश्तर सी चुभने वाली सर्दी से बेहाल हैं। शहरों और कस्बों में जगह-जगह अलाव जलाये जा रहे हैं। इसमें सामाजिक संगठन भी सहयोग कर रहे हैं।

ठंड और कोहरे की वजह से रेल तथा सड़क यातायात पर बुरा असर हो रहा है और लम्बी दूरी की दर्जनों रेलगाड़ियां अपने निर्धारित समय से कई घंटे देर से चल रही हैं। अगले 24 घंटों के दौरान भी ठंड के तीखे तेवर बरकरार रहने की सम्भावना है। राज्य में कुछ स्थानों पर शीतलहर चलने का भी अनुमान है। कुछ जगहों पर कोहरा भी गिर सकता है।

ये भी पढ़ें - पहाड़ों पर बर्फबारी, मैदानों में शीतलहर, भविष्य उज्ज्वल है

पिछले 24 घंटों के दौरान बदायूं जिले में जहां ठंड लगने से दो बच्चों की मौत हो गयी, वहीं आजमगढ़ में घने कोहरे के बीच एक ट्रैक्टर-ट्रॉली के नहर में जा पलटने से तीन लोगों की मृत्यु हो गयी, वहीं दो अन्य जख्मी हो गये।

आजमगढ़ में बुधवारागुरवार की रात को भीषण कोहरे के बीच भुजही गाँव की नहर पुलिया पर रास्ता नही दिखाई देने के कारण एक ट्रैक्टर ट्राली अनियन्त्रित होकर नहर में जा पलटी। इस हादसे में ट्रैक्टर चालक दिनेश (50), रमेश (40) और नान्हू (56) की ट्रैक्टर-ट्राली के नीचे दबकर मौके पर ही मौत हो गयी जबकि बल्ली और गौतम नाम के व्यक्ति गम्भीर रुप से घायल हो गये।

उधर, बदायूं से प्राप्त रिपोर्ट के मुतातिक मुख्य चिकित्साधिकारी डॉक्टर नेमीचंद्रा ने बताया है कि बिल्सी तहसील स्थित कस्बे इस्लामनगर के तकिया मुहल्ला निवासी यासीन के चार बच्चे लगातार ठंड बढ़ने से ब्रान्को निमोनिया की चपेट में आ गये थे। मंगलवार देर रात चारों की हालत बिगड़ गई। बच्चों को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया जहाँ काजल (छह वर्ष) और अरशद (दो वर्ष) की मौत हो गई जबकि अफसाना और नसरीन को लगातार बिगड़ती हालत के मद्देनजर चंदौसी के निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

ये भी पढ़ें - इस कड़ाके की ठंड में पतला सा कंबल ओढ़े गत्ते पर सोता है वो बच्चा

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top