औरैया : फार्मासिस्ट के सहारे चल रहा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र

औरैया : फार्मासिस्ट के सहारे चल रहा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रइलाज कराने के लिए लेना पड़ रहा झोला छाप चिकित्सकों का सहारा

रानू सिददीकी, स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

फफूंद (औरैया)। चौबे के तालाब के पास स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र डाक्टर विहीन चल रहा है। इकलौता अस्पताल मरीजों को स्वास्थ्य सेवा के नाम पर ठेंगा दिखा रहा है। अगर अस्पताल की हकीकत देखी जाए तो एक फार्मासिस्ट के सहारे चल रहा है, जबकि प्रत्येक दिन सौ मरीज अस्पताल पहुंचते हैं।

ये भी पढ़ें : कर्ज़माफी से नहीं आएगा क‍ृषि में सुधार, मुश्किलें और भी हैं...

जिला मुख्यालय से 15 किलोमीटर दूर चौबे के तालाब के पास सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चिकित्सकों की कमी के चलते सफेदहाथी बना हुआ है। अस्पताल एक फार्मासिस्ट के सहारे चल रहा है। लगभग छह माह से अस्पताल पर कोई डाक्टर नहीं बैठ रहा है।

इसी भवन में महिला अस्पताल भी चल रहा है जिसमें महिला डाक्टर नहीं है। अस्पताल में लैब, सफाईकर्मी, वार्ड ब्वाय की तैनाती नहीं है, जिससे अस्पताल की स्वास्थ्य सेवा पंगु बनी हुई है। अस्पताल की सफाई व्यवस्था भगवान भरोसे चल रही है और अन्य सेवायें ठप्प चल रही है। कस्बे के गणमान्य लोगों ने जिलाधिकारी से डाक्टर सहित रिक्त पड़े पदों पर नियुक्ति की मांग की है।

ये भी पढ़ें: फाइलों में घूम रही यूपी की निर्यात नीति

फफूंद निवासी अहमद हुसैन (42वर्ष) का कहना है, “अस्पताल में चिकित्सक के न बैठने से लोगों को औरैया मरीज दिखानेजाना पड़ता है। महिला चिकित्सक न होने से महिलाओं को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।”

मुख्य चिकित्साधिकारी डा. गिरीश कुमार का कहना है, “जिले में चिकित्सकों की लगातार कमी चल रही है। जिले के प्रत्येक स्वास्थ्य केंद्र पर व्यवस्था मजबूत करने के लिए वह शासन को लगातार पत्र लिख रहे हैं।”

Share it
Share it
Share it
Top