Top

कासगंज रेलवे स्टेशन पर आरपीएफ और रेलवे कर्मचारियों के बीच हाथापाई , ट्रेनें रोकी

कासगंज रेलवे स्टेशन पर आरपीएफ और रेलवे कर्मचारियों के बीच हाथापाई , ट्रेनें रोकीकासगंज रेलवे स्टेशन पर पहुंचें अधिकारी 

मोहम्मद आमिल

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

एटा (कासगंज)। लखनऊ-मथुरा रेलवे लाइन के मध्य कासगंज रेलवे स्टेशन पर आरपीएफ के सिपाहियों और रेलवे कर्मचारियों के बीच विवाद हो गया। हालात इतने बिगड़ गए कि रेलवे कर्मचारियों ने ट्रेनों का आवागमन बंद कर दिया। लगभग दो घण्टे तक चले इस विवाद से ट्रेन में सफर कर रहे यात्री भी अपना आपा खो बैठे। गुस्साए यात्रियों ने कासगंज जीआरपी थाने पर पथराव कर दिया। बहुत मुश्किल से हालात काबू कर दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्यवाही की गयी तब जाकर रेलवे कर्मचारी वापस अपने काम पर लौटे।

आरपीएफ सिपाहियों ने कर दी थी रेलवे कर्मचारी के साथ मारपीट

रेलवे कर्मचारियों ने कर दिया ट्रेनों का आवागमन बंद

गुस्साए यात्रियों ने कर दिया आरपीएफ थाने पर पथराव

स्टेशन पर जमा लोग

मथुरा-फर्रुखाबाद पैसेंजर के महिला कोच में बैठे पुरुष यात्रियों को आरपीएफ के सिपाहियों ने हटा दिया, उसी कोच में ही एक रेलवे चालक प्रेम किशोर भी बैठा था। जिसका आरोप है कि सिपाहियों ने उसे भी यात्री समझ उससे अभद्रता की। चालक से अभद्रता होते देख उसी कोच में बैठा उसका साथी चालक आर के त्रिपाठी भी आ गया। आरपीएफ सिपाहियों ने दोनों रेलवे चालकों से मारपीट कर दी। इसमें प्रेम किशोर गंभीर रूप से घायल हो गया।

उत्तर प्रदेश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

घायल रेलवे चालक

रेलवे चालक से हुयी मारपीट की बात रेलवे कर्मचारियों को जब पता चली तो स्टेशन पर हंगामा खड़ा हो गया। स्टेशन पर ही फर्रुखाबाद जाने के लिए एक और ट्रेन खड़ी थी, जिसे रोक दिया गया, हंगामा बढ़ने लगा तो ट्रेनों के यात्री भी रेलवे कर्मचारियों के पक्ष में आ गए, गुस्साए यात्रियों ने आरपीएफ थाने पर पथराव कर दिया।

इस मसले पर जब हमने वहाँ के (डीआरएम) निखिल पांडेय से बात की तो उनका कहना था कि "घायल रेलवे चालक को मेडिकल के लिए भेज दिया गया। वही दोषी आरपीएफ कर्मचारियों को सस्पेंड कर उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जायेगी।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.