अधिकारियों को गुमराह कर रही डग्गामार बसें  

Diti BajpaiDiti Bajpai   26 Oct 2017 5:42 PM GMT

अधिकारियों को गुमराह कर रही डग्गामार बसें  ऐसी डग्गामार बसें केकेसी के पास से रोजाना संचालित हो रही हैं।

लखनऊ। परिवहन निगम की बसों के लाल-पीले रंग की ही तरह डग्गामार वाहन संचालकों ने भी बसों का रंग लाल-पीला कर लिया है।

सड़क पर संचालन के दौरान निगम की बस समझकर अधिकारी डग्गामार बसों पर ध्यान नहीं देते हैं जिससे यह डग्गामार वाहन चेकिंग अभियान के दौरान अधिकारियों की आंखों के सामने से गुजर जाते हैं और अधिकारियों को पता ही नहीं लगता। ऐसी डग्गामार बसें केकेसी के पास से रोजाना संचालित हो रही हैं।

यह भी पढ़ें- 25 लाख की लागत लगने के दस वर्षों बाद भी नहीं चालू हो पाया पीलीभीत का बीसलपुर रोडवेज बस स्टैंड

परिवहन विभाग व परिवहन निगम के अधिकारी आए दिन डग्गामार वाहनों के खिलाफ संयुक्त अभियान चलाते हैं। अभियान में डग्गामार बसों का चालान करने के साथ ही सीज करने की कार्रवाई करते हैं। अधिकारियों की चेकिंग से परेशान डग्गामार वाहन संचालकों ने अब नया रास्ता ईजाद कर लिया है। अब वे निगम की बसों के रंग में ही अपनी बसें रंगकर सड़क पर दौड़ा रहे हैं।

केकेसी से कालूखेड़ा होते हुए मौरावां के लिए इन बसों का हो रहा संचालन ।

सुबह से रात तक निगम की बसों की रंग वाली यह डग्गामार बसें केकेसी महाविद्यालय के पास से संचालित होती हैं। ऐेसे में न परिवहन विभाग और न ही परिवहन निगम के अधिकारियों को ही इन बसों की खबर होती है। केकेसी से कालूखेड़ा होते हुए मौरावां के लिए इन बसों का संचालन हो रहा है।

यह भी पढ़ें- चीन में अब पटरी की जगह सड़क पर दौड़ी ट्रेन, देखें तस्वीरें

वहीं परिवहन निगम के अधिकारी कह रहे हैं कि अब डग्गामार बसों का संचालन बिल्कुल नहीं हो रहा है। ऐसे में इन अधिकारियों को क्लार्क अवध के पीछे शनि मंदिर और केकेसी के पास जाकर देखना चाहिए।

यह भी पढ़ें- पिछले साल भारत में सड़क दुर्घटना में प्रति घंटे 17 लोगों की हुई मौत

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top