फिरौती मांगने वाले वायरस का खौफ ,संभाल के रखें अपना पैसा

फिरौती मांगने वाले वायरस का खौफ ,संभाल के रखें अपना पैसासभी बैंकों और एटीएम में चल रहा है सॉफ्टवेयर अपग्रेडेशन का काम

लखनऊ। दुनिया भर में पिछले शुक्रवार हुए साइबर अटैक का असर हिंदुस्तान में भी देखने को मिल रहा है, जिसको लेकर केंद्रीय सरकार से जुड़े सभी विभाग सॉफ्टवेयर दुरूस्त करने में जुटे हैं। साइबर अटैक का सबसे अधिक खतरा हिंदुस्तान में बैंकिग सेक्टरों को है, जहां सभी काम इंटरनेट के माध्यम से ऑपरेट होता है।

इसको देखते हुए बैंकों ने इस आपदा से बचने के लिए अपनी कमर कस ली है और सॉफ्टवेयर अपग्रेडेशन कार्य में जुट गए हैं, वहीं इस वजह से बैंकों के ग्राहकों को परेशानी से दो चार होना पड़ रहा है।

साइबर अटैक के खतरे को देखते हुए यूपी के भी सभी बैंक अपने सॉफ्टवेयर अपग्रेड करने में जुटे हैं। हैकिंग से बचने के लिए बैंक साइबर एक्सपर्ट की मदद ले रहा है। बैंकों का मानना है कि थोड़ी सी भी चूक आम लोगों की जमा पूजी को एक मिनट में कंगाल कर देगी, जिसे देखते हुए बैंकों ने अपने-अपने साइबर एक्सपर्टों से मदद मांगी है, जो दिन रात इस काम में जुटे हैं।

ये भी पढ़ें: भारत में रैंसमवेयर साइबर अटैक का खौफ, कई ATM और बैंक में काम बंद

वहीं यूपी की की बात करें तो, यहां जिलों के सभी बैंकों के मुख्यालय हैं। जिसे देखते हुए ग्राहकों के रुपए को बचाने के लिए बैंक अपने सॉफ्टवेयर अपग्रेडेशन करने में जुटे हैं लेकिन बैंक के इस अपग्रेडेशन काम के चलते दो दिनों से आम ग्राहकों को परेशानियों को सामना करना पड़ रहा है। फिलहाल बैंक अधिकारी आशंका के मद्देनजर जरूरी सावधानियां बरत रहे हैं।

हालांकि अभी यूपी में साइबर अटैक की कोई खबर नहीं आई है। लखनऊ के साइबर सेल इंचार्ज अरुण कुमार सिंह का कहना है कि, अभी तक किसी भी बैंक या सरकारी विभाग ने साइबर अटैक में मदद नहीं मांगी और न ही कोई शिकायत दर्ज कराई है।

उधर ग्राहकों को बैंकों में साफ्टवेयर अपग्रेडेशन के चलते एटीएम मशीन और बैंकों में लंबी-लंबी लाइनों का सामना करना पड़ रहा है, पर इस संबंध में बैंक ग्राहकों को कोई सटीक जवाब नहीं दे पा रहे हैं कि आखिर उन्हें अपने रुपए निकालने में इतनी समस्या क्यों आ रही है। वहीं इस मामले में बैंक अधिकारियों का कहना है कि, ऐसी कोई समस्या नहीं है, अगर किसी ब्रांच में होगी तो उसे जल्द खत्म कर बैंकिग प्रणाली को सुचारू रूप शुरू कर दिया जाएगा। साथ ही उन्होंने साइबर अटैक मामले में कुछ बोलने से इंकार कर दिया है।

सिंचाई विभाग की वेबसाइट हैक, गिरफ्तार

राजधानी की साइबर क्राइम सेल हजरतगंज ने सरकारी वेबसाइटों को हैक करने ने आरोप में एक चार्टेड एकाउंटेंट को गिरफ्तार करने का दावा किया है। पकड़े गए आरोपी के खिलाफ हुसैनगंज कोतवाली में मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है।

साइबर क्राइम सेल हजरतगंज के प्रभारी अरुण कुमार सिंह ने बताया कि, सिंचाई विभाग के पोर्टल को हैक करने की शिकायत के बाद घटना के अनावरण के लिए पुलिस टीम को लगाया गया था। जांच के दौरान थाना प्रभारी हुसैनगंज अखिलेश पांडेय, साइबर क्राइम सेल के उप निरीक्षक विजयवीर सिंह सिरोही, कांटेबल फिरोज बदर, शाइस्ता खान, अखिलेश कुमार ने अभियुक्त संजय फैड्रिक सिंह निवासी लालबाग को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। पुलिस के मुताबिक, संजय ने सिंचाई विभाग की वेबसाइट को हैक किया था। पूछताछ में उसने खुद को चार्टेड एकाउंटेंट बता रहा है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top