जिले में महिला सुरक्षा के लिए डायल 181 सेवा की शुरुआत 

जिले में महिला सुरक्षा के लिए डायल 181 सेवा की शुरुआत डीएम ने डायल 181 रेस्क्यू वैन को हरी झण्डी दिखाकर किया रवाना

गोंडा। एन्टी रोमियो स्क्वायड टीम गठित करने बाद प्रदेश सरकार ने महिलाओं के सशक्तीकरण और उनकी सुरक्षा के लिए एक और अनोखी पहल डायल 181 का विस्तार किया है। डीएम जेबी सिंह ने केलक्ट्रेट परिसर में शासन से प्राप्त महिला रेस्क्यू वैन को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। प्रथम चरण में यह हेल्पलाइन चालू की गई थी, शेष 64 जिलों में गोण्डा भी शामिल है।

डीएम ने बताया, “ महिलाओं, बालिकाओं की सुरक्षा तथा सामाजिक सशक्तीकरण हेतु उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा डायल 181 सेवा शुरू की गई थी। इसका विस्तार किया गया है। 181 एक टोल फ्री नम्बर है, जो 24 घन्टे कार्य करता है। महिला हेल्पलाइन पर कोई भी महिला एवं बालिका जो विषम परिस्थितियों में फंसी हुई हो अथवा उसको किसी अन्य प्रकार की समस्या के समाधान के लिए सलाह की आवश्यकता हो तो वह इस टोल फ्री नम्बर पर काल करके सलाह अथवा सहायता प्राप्त कर सकती है। ”

ये भी पढ़ें- 181 और रेस्क्यू वैन 100 दिन में हमारी सबसे अनूठी पहल : रीता बहुगुणा जोशी

उन्होंने आगे बताया, “इस हेल्प लाइन का कन्ट्रोल रूम लखनऊ में है। कॉल करने पर प्रशिक्षित टेली काउन्सलर महिला को परामर्श देगी। इसके अलावा महिला यदि ऐसी स्थिति में है कि उसे तत्काल सहायता प्रदान किया जाने की जरूरत हो तो ऐसी परिस्थिति में हेल्पलाइन के साथ सम्बद्ध जीपीएस सिस्टमयुक्त रेस्क्यू वैन के माध्यम से 181 की टीम द्वारा घटना स्थल पर पहुंचकर सहायता प्रदान की जाती है। ”

वहीं जिलाधिकारी ने बताया, “ प्रदेश के ग्यारह जनपदों में प्रथम चरण में यह हेल्पलाइन चालू की गई थी, शेष 64 जिलों में गोण्डा भी शामिल है। इस योजना को ‘‘आशा ज्योति केन्द्र” का नाम दिया गया है। आशा ज्योति केन्द्र के संचालन होने तक जिला प्रोबेशन अधिकारी को शासन ने इसका नोडल अधिकारी नामित किया है। हिंसा से पीड़ित महिला को रेस्क्यू वैन के माध्यम से सुगमकर्ता केन्द्र पर लाएगें तथा विधिक सहायता एवं कार्यवाही के लिए उनके द्वारा रिपोर्टिंग पुलिस चौकी अथवा सम्बन्धित थाने हस्तान्तरित किया जाएगा।”

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top