उत्तर प्रदेश

डॉक्टरों की कमी के चलते योगी सरकार ने लिया अहम फैसला, बढ़ाई रिटायरमेंट की अवधि

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में सरकारी डॉक्टरों की सेवानिवृत्ति की उम्र 60 से बढ़ाकर 62 कर दी गई है। मंगलवार को कैबिनेट की 9वीं बैठक में उत्तर प्रदेश सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थनाथ सिंह ने बताया, "प्रदेश में डॉक्टरों के लगातार पद खाली हैं, वहीं आयोग से भी भर्ती नहीं हो पा रही है।

कुल 18,182 स्वीकृत पद हैं, जिनमें से 7327 पद खाली हैं। इसी को लेकर हमने सुधार की शुरुआत की है।" सिद्धार्थनाथ सिंह ने बताया कि 2014 से 2017 तक 11,00 डॉक्टर रिटायर हो रहे हैं इसलिए हमने रिक्त पद भरने के लिए ये कदम उठाया है।

ये भी पढ़ें :- कहीं डॉक्टर गायब तो कहीं टॉर्च की रोशनी में बन रहे पर्चे

उन्होंने बताया कि विधान सभा के अंदर जो सैनिक तैनात होते हैं, वे अब विधान भवन संरक्षक के तौर पर तैनात होंगे। अब उनकी भर्ती की शैक्षिक योग्यता हाईस्कूल नहीं बल्कि इंटरमीडिएट पर होगी। वहीं महिला सुरक्षा बल जो काम करती है, उनके लिए नियमावली में कुछ बदलाव किए गए है। ताकि नियमो के तहत कुछ राहत दी जा सके।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।