ड्यूटी पर जान गंवाने वाले पुलिसकर्मियों के परिजनों को 40 लाख की सहायता

ड्यूटी पर जान गंवाने वाले पुलिसकर्मियों के परिजनों को 40 लाख की सहायतामेरठ में जनसभा को संबोधित करते सीएम योगी आदित्यनाथ

मेरठ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को मेरठ में कार्यक्रम के दौरान एक बड़ी घोषणा की। उन्होंने कहा कि सेना, यूपी पुलिस या पीएसी के जवान के शहीद होने पर हमने उनके परिवार को मिलने वाली सहायता राशि को भी दोगुना कर दिया है। सीएम ने मोहिउद्दीनपुर शुगर मिल विस्तारीकरण योजना का उद्घाटन किया और दो दिन पहले शामली में शहीद हुए सिपाही अंकित तोमर को श्रद्धांजलि दी।

मुख्यमंत्री ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि जो कैराना कभी भय का केंद्र हुआ करता था, पुलिस के इन जवानों ने उसको समाप्त किया है। प्रदेश को सुरक्षा देने वाले जवानों के शहीद होने पर उनके परिवार को मिलने वाली सहायता राशि को दोगुना कर हमने उनका सम्मान किया है।

ये भी पढ़ें:- सरकार का प्लान : यूपी के किसानों को घाटे से बचाने के लिए इकट्ठा किया जाएगा फंड

मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले ड्यूटी के दौरान शहीद हुए पुलिकर्मियों को पहले 20 लाख रुपए मुआवजा के तौर पर मिलता था जिसे अब दोगुना कर दिया गया है। ऐसे में शहीद हुए पुलिसकर्मियों की पत्नी को 40 लाख रुपए बतौर सहायता राशि मिलेगी। साथ ही शहीद के मां-बाप को 10 लाख रुपए की आर्थिक मदद मिलेगी।

उन्होंने कहा कि 'उत्तर प्रदेश के 22 करोड़ लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए, शहीद हुए जवानों को दी जानेवाली मुआवजा राशि दोगुना कर दिया है।'

सीएम ने कहा कि बेहतर काम करने वाले पुलिस कर्मियों को स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस पर सम्मानित किया जाएगा। इस मौके पर 475-475 पुलिस कर्मियों को डीजी प्रशंसा चिह्न, 150 पुलिसकर्मियों को प्रशंसा चिह्न हीरक, 300 पुलिसकर्मियों को डीजी कमेंडेशन डिस्क गोल्ड और 500 पुलिस कर्मियों को प्रशंसा रजत दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें : विरोध का अनूठा तरीका : किसानों ने लखनऊ की सड़कों पर फैलाया आलू

यह भी पढ़ें : घटतौली और लेटलतीफ भुगतान, गन्ना किसान परेशान

Share it
Top