बेटी के नाम पर आर्थिक मदद पाने के लिए तीन हजार लोगों ने कर दिया केंद्र सरकार को स्पीड पोस्ट

Mohit AsthanaMohit Asthana   30 April 2017 7:07 PM GMT

बेटी के नाम पर आर्थिक मदद पाने के लिए तीन हजार लोगों ने कर दिया केंद्र सरकार को स्पीड पोस्टप्रतीकात्मक फ़ोटो

दीप कृष्ण शुक्ल, स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

उन्नाव। ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ योजना अब प्रशासन के लिए सिरदर्द बनने लगी है। योजना के तहत सरकार द्वारा आर्थिक मदद मिलने की अफवाह के बीच हर रोज हजारों की संख्या में लोग डाकघर पहुंचकर फार्म भर रहे हैं। शनिवार की भी प्रधान डाकघर में रजिस्ट्री करने वालों की भीड़ उमड़ी। इस बीच योजना को अफवाह बताकर जब डाकघर कर्मियों ने लौटाने का प्रयास किया तो हंगामा खड़ा हो गया। जिस पर लोगों को काबू में करने के लिए पुलिस बल का सहारा लेना पड़ा। डाकघर पहुंचे पुलिस कर्मियों ने ऐसे लोगों को बाहर निकाला जो इस योजना के तहत रजिस्ट्री करने पहुंचे थे।

भारत सरकार द्वारा बेटियों की मदद के लिए बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के तहत आर्थिक मदद दिए जाने की अफवाह पिछले एक सप्ताह से फैली हुई है। योजना के तहत लोगों को बताया गया है कि जिनके परिवार में बेटियां हैं वह बेटियों की पढ़ाई व शादी के लिए सरकार से आर्थिक मदद ले सकते हैं। इस योजना का लाभ लेने के लिए लोगों को भारत सरकार के नाम आवेदन करना होगा। अफवाह फैलते ही बड़ी संख्या में लोगों ने आवेदन करना शुरू कर दिया।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

शुरुआत में प्रशासन को इस मामले की जानकारी नहीं लग सकी, लेकिन जैसे ही डाकघर में लोगों की भीड़ बढ़ने लगी तब प्रशासन ने इसे गंभीरता से लिया। हालांकि तब तक जिले के डाकघर से रजिस्ट्री व स्पीड पोस्ट के माध्यम से पचास हजार से अधिक आवेदन भेजे जा चुके थे। इसी तरह शनिवार को शहर के मुख्य डाकघर में भी योजना के तहत आवेदन करने के लिए भारी संख्या में लोग पहुंच गए। योजना मात्र एक अफवाह है यह बताकर जब डाक कर्मियों ने लोगों को आवेदन करने से मना किया तब लोग भडक़ उठे। मामला गंभीर होता देख डाकघर के पोस्ट मास्टर ने पुलिस को मामले की सूचना दी। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने लोगों को समझाने का प्रयास किया।

प्रधान डाकघर में हुए तीन हजार से अधिक आवेदन

प्रधान डाकघर के पोस्टमास्टर ने बताया कि पांच दिन पूर्व से बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के तहत लोगों ने आवेदन करना शुरू किया था। पहले उन्हें भी इस अफवाह की जानकारी नहीं थी ऐसे में उन्होंने इसे रोका नहीं। लेकिन जब मामला जानकारी में आया तब उन्होंने लोगों को समझाना शुरू किया। लेकिन तब तक तीन हजार से लोग रजिस्ट्री व स्पीड पोस्ट के माध्यम से भारत सरकार के पास आवेदन भेज चुके थे।


बाजार में बिक रहे हैं फार्म

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना मात्र एक अफवाह है लेकिन लोग इसे मानने को तैयार नहीं हैं। बाजार में इस योजना के नाम पर धड़ल्ले से फार्म बिक रहे हैं। फार्म के नाम पर लोग दस रुपए तक वसूल कर रहे हैं। बाजार से फार्म खरीदने के बाद लोग उन्हें भरकर रजिस्ट्री करने के लिए डाकघर पहुंच रहे हैं। शुक्रवार को बीघापुर में भी रजिस्ट्री करने के लिए हजारों की संख्या में लोग पहुंचे थे। जिन्हें एसडीएम ने समझाकर वापस किया था।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top