शिक्षक आदेश की उड़ा रहें धज्जियां, अपनी मर्ज़ी के मुताबिक कर रहे काम 

Mohit AsthanaMohit Asthana   29 April 2017 2:52 PM GMT

शिक्षक आदेश की उड़ा रहें धज्जियां, अपनी मर्ज़ी के मुताबिक कर रहे काम बोर्ड परीक्षाओं की उत्तर-पुस्तिकाएं जांचने के लिए परीक्षक पहुंच नहीं रहे हैं।

आभा, स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

कन्नौज। माध्यमिक शिक्षा परिषद इलाहाबाद बोर्ड परीक्षाओं की उत्तर-पुस्तिकाएं जांचने के लिए परीक्षक पहुंच नहीं रहे हैं। हालत यह है कि दो केंद्रों पर करीब 20 फीसदी ही उपस्थिति हो रही है। इससे मूल्यांकन में देरी होने की संभावना है।

शहर स्थित केके इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य वीके श्रीवास्तव ने बताया, ‘‘27 उप प्रधान परीक्षकों में से 20 आए हैं। 50 सहायक परीक्षक आए हैं, जबकि 241 को जिम्मेदारी दी गई है। 20 नए उप प्रधान परीक्षक लगाए जा रहे हैं।’’

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

केकेसीएन इंटर कॉलेज मूल्यांकन केंद्र के प्रधानाचार्य रामगोपाल वर्मा ने बताया, ‘‘दूसरे दिन 379 सहायक परीक्षकों में से 308 गैरहाजिर रहे। 41 उप प्रधान परीक्षकों में से 14 ही आए हैं। कुल 18 टोलियां बनाई गई हैं। एक टोली में 10 परीक्षक और एक डीएचई को लगाया गया है।’’ प्रधानाचार्य ने आगे कहा, ‘‘24 नए उप प्रधान परीक्षक लगाने का आदेश हुआ है।’’ डीआईओएस केपी सिंह यादव का इस बाबत कहना है, ‘‘मोबाइल रखते हैं, लेकिन बंद करके। पहले दिन से परीक्षकों की हाजिरी बढ़ी है।’’

रिवाल्वर लगाकर आए, मोबाइल भी घनघनाए

केकेसीएन इंटर कॉलेज के एक कक्ष में परीक्षक रिवाल्वर लेकर कॉपियां जांच रहे थे। उनकी टेबिल पर मोबाइल भी रखा था। अन्य सभी कमरों में अधिकतर परीक्षक मोबाइल लेकर आए थे। कुछ शिक्षक तो बातें करते हुए भी नज़र आये।

वित्तविहीन कॉलेजों से कम गैरहाजिर हो रहे शिक्षक

उप प्रधान परीक्षक और सहायक परीक्षक में गैरहाजिर रहने वालों में एडेड स्कूल और कॉलेजों के शिक्षकों की संख्या अधिक है। वित्तविहीन कॉलेजों व स्कूलों से कम ही शिक्षक गैरहाजिर हैं। प्रधानाचार्य रामगोपाल वर्मा का कहना है कि दोनों तरह के स्कूलों से शिक्षक गैरहाजिर हैं। एडेड स्कूलों के शिक्षकों की संख्या अधिक है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top