विलुप्त हो चुके तालाब अपना खोया अस्तित्व फिर से वापस पा सकेंगे

विलुप्त हो चुके तालाब अपना खोया अस्तित्व फिर से वापस पा सकेंगेतालाबों के खत्म हो रहे अस्तित्व को बचाये रखने के लिये प्रशासन ने सख्त कदम उठाया है।

एसके धुनिया, स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

औरैया। तालाबों के खत्म हो रहे अस्तित्व को बचाये रखने के लिये प्रशासन को एक बार फिर से याद आ गई है। प्रशासन ने फिर से तालाबों पर हो चुके अतिक्रमण को ढहाने की रूपरेखा तैयार की है। जिसकी कवायद तालाबों की पैमाइश से शुरू कर दी गई है।

अजीतमल एसडीएम राजेन्द्र कुमार ने राजस्व टीम के कर्मचारियों के साथ नगर पंचायत बाबरपुर अजीतमल क्षेत्र के तालाबों की पैमाइश की है। नगर पंचायत बाबरपुर अजीतमल में सात तालाब है। जिन पर अवैध रूप से लोगों ने अतिक्रमण कर रखा है। जिससे तालाबों का अस्तित्व समाप्त हो चुका है और जलस्तर भी गिरता जा रहा है।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

तालाबों पर अतिक्रमण करने वाले लोग कब्जा छोड दे। अतिक्रमण किया हो तो हटा ले वरना कार्रवाई के लिए तैयार रहे।
के.बालाजी, डीएम

इसके लिये नगर प्रशासन से लेकर तहसील प्रशासन ने कई बार कार्य योजनाएं तैयार की। लेकिन कार्य योजनाएं सिर्फ फाइलों में ही दबकर रह गई। एक बार प्रशासन फिर से हरकत में आया और नगर पंचायत क्षेत्र के तालाबों की पैमाइश शुरू कर रूपरेखा तैयार करने की योजना शुरू कर दी है। एसडीएम के साथ कानूनगो जगदीश परिहार मौजूद रहे।

एसडीएम राजेन्द्र कुमार ने बताया कि नगर पंचायत में सात तालाबों की पैमाइश की गई है। अतिक्रमण हटाने को लेकर कार्य योजना तैयार की जा रही है। बहुत शीघ्र ही तालाबों से अतिक्रमण हटाया जायेगा। अतिक्रमण हटाने में बाधा बनने वाले लोगों पर एफआईआर दर्ज कराई जाएगी।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें

Share it
Share it
Share it
Top