मर्सडीज से घूमने वाला फर्जी फिल्म निर्माता को लखनऊ से दबोचा

मर्सडीज से घूमने वाला फर्जी फिल्म निर्माता को लखनऊ से दबोचाफर्जी निर्माता अभिषेक कश्यप को एसटीएफ ने दबोचा।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने एक गैंग को गुरुवार को पकड़ा है, जो एक बड़े फिल्म निर्माता के नाम पर फर्जी वेबसाइट बना आम लोगों को ठगने का काम किया करता था।

अवैध वसूली कर हो जाते थे फरार

एसटीएफ के एसएसपी अभिषेक सिंह ने बताया, ”जालसाज अभिषेक शर्मा काफी लंबे समय से एक वेबसाइट के जरिए वेडिंग प्लानर का कार्य कर रहा था। साथ ही इसके द्वारा वह अवैध वसूली कर फरार हो जाते थे।“ एसएसपी ने आगे बताया, “वेडिंग प्लानर एवं फिल्म निर्माता की फर्जी बेबसाइट बनाकर अभिषेक शर्मा धोखधड़ी करके अवैध वसूली कर रहा था। इस संबंध में शिकायत मिलने पर छानबीन करने पर चला कि इस तरह के एक और अन्य मामले में गाजियाबाद के इंदिरापुरम थाने में भी मुकदमा दर्ज हैं।“

यह भी पढ़ें: लोकसभा में तीन तलाक विधेयक पास, सभी संशोधन खारिज

साइबर हेड को लखनऊ आने की मिली सूचना

इस मामले की साइबर सेल हेड त्रिवेणी सिंह काफी समय से जांच कर रहे थे। इस दौरान गुरुवार को उन्हें सूचना मिली की फर्जी वेबसाइट बना लोगों से धोखाधड़ी करने वाला गैंग का सरगना अभिषेक शर्मा उर्फ अभिषेक कश्यप लखनऊ में अपने किसी मित्र से मिलने आ रहा है। इस सूचना के आधार पर एसटीएफ की टीम ने आरोपी अभिषेक शर्मा को शहीद पथ, गोमतीनगर, लखनऊ से गिरफ्तार कर लिया।

इस तरह फंसाता था झांसे में

गिरफ्तार अभियुक्त अभिषेक शर्मा से पूछताछ पर बताया कि उसने फेसबुक पर कई फर्जी आईडी बना रखी हैं और दो फर्जी वेबसाइट का संचालन कर रहा है। उनमें से एक फर्जी वेबसाइट अपनी कम्पनी को इंडोनेशिया देश में दर्शाते हुए बनाइ गई है। जस्ट डायल पर भी वह सब्सक्राइबड है। इस तरह इन्टरनेट के माध्यम से लोगों के साथ धोखाधड़ी की जाती है। इसके अतिरिक्त विभिन्न विज्ञापनों के माध्यम व वेबपोर्टल जैसे फर्जी फेसबुक, बेडिंग प्लानर बेबसाइट, आन लाइन विभिन्न बेब पोटर्ल, जस्ट डायल, सादीसागा, इण्डिया माटर्, बेण्डिग वायर, बेड मी गुड, सुलेखा आदि के द्वारा इसकी सेवा लेने वालों को अपने झांसे में फंसाता था।

यह भी पढ़ें: तीन तलाक: कुछ भी खतरे में नहीं है, सिर्फ कुछ मुसलमान मर्दों की जबरदस्ती खतरे में: भाजपा

कम्पलीट पैकेज का प्रलोभन देकर लोगों से ठगी

इसके बाद इण्डोनेशिया के वर्चुवल नम्बर का प्रयोग कर कम्पलीट पैकेज का प्रलोभन देकर लोगों से ठगी की जाती थी। आम लोगों से ठगी धनराशि को भिन्न-भिन्न बैंक खातों में आनलाइन ट्रॉसफर करायी जाती थी। इसके अलावा फिल्म इण्डस्ट्री में काम दिलाने का भी प्रलोभन दिया जाता था, जिसका दि फिल्म राइटर्स एसोसिएशन का कार्ड तैयार कराया गया था।

अन्य लोगों की भी होगी गिरफ्तारी

एसएसपी एसटीएफ अभिषेक सिंह ने कहा, “इस गिरोह ने विभिन्न वेडिंग प्लानर साइटों व सम्बन्धित बैंक खातों में जमा कराई गई धनराशि के सम्बन्ध में जांच जारी है। साथ ही गिरोह के पूरे नेटवर्क के सम्बन्ध में छानबीन करते हुए अन्य लोगों की भी गिरफ्तारी की जायेगी।“

यह भी पढ़ें: भारत में करीब दो लाख पर्यटक होटल कमरों की कमी

Share it
Top