मेजर की वर्दी पहने जालसाज को सैन्य अधिकारियों ने पकड़ा

मेजर की वर्दी पहने जालसाज को सैन्य अधिकारियों ने पकड़ामेजर की वर्दी में गिरफ्तार आरोपी। 

लखनऊ। राजधानी के चारबाग रेलवे स्टेशन से रविवार को भारतीय सेना के नाम पर मेजर की वर्दी पहने घूम रहे फर्जी अधिकारी को गिरफ्तार किया गया है। पकड़ा गया फर्जी अधिकारी मेजर की वर्दी पहन कर रेलवे स्टेशन पर घूम रहा था। स्टेशन पर मौजूद सैन्य अधिकारियों ने शक होने पर उसे हिरासत में लिया और जीआरपी को सौंप दिया। जीआरपी ने जब उससे पूछताछ की तो पता चला वह सेना के नाम पर फर्जीवाड़ा कर रहा है। पूछताछ के दौरान फर्जी अधिकारी की पहचान सुल्तानपुर जिले के रहने वाले सर्वेश कुमार त्रिपाठी के रूप में हुई है। राजकीय रेलवे पुलिस और आर्मी इंटेलीजेंस आरोपी से पूछताछ करने में जुटी है।

जीआरपी चारबाग प्रभारी सुशील कुमार सिंह के मुताबिक, रविवार को सेना के मेजर की वर्दी पहन कर एक युवक प्लेटफॉर्म पर घूम रहा था। तभी वहां मौजूद सैन्यकर्मियों की नजर उस पर पड़ी। चूंकि युवक कर्नल की जो वर्दी पहने था उसपर स्टिकर सही से लगा नहीं था। इस पर सैन्यकर्मियों को शक हुआ और उन्होंने उससे तैनाती और रेजिमेंट के बारे में पूछा। क्योंकि युवक फर्जी था इसलिए वह जबाव नहीं दे पाया। इसके बाद सैन्यकर्मियों ने उसे पकड़कर हिरासत में लेकर जीआरपी को सौंप दिया। पूछताछ में पकड़े गए युवक की पहचान मूलरूप से सुल्तानपुर जिले के रमनपुर गांव हालपता किराये का माकन 2041 सेक्टर-14 इंदिरानगर गाजीपुर में रहने वाले सर्वेश कुमार त्रिपाठी के रूप में हुई है। उसने वर्दी कैंट इलाके से खरीदी थी।

ये भी पढ़ें : आर्मी कैंटीन में बैन, लेकिन बाज़ार में बिक रहा पतंजलि आंवला जूस

जीआरपी के अनुसार, इंटर पास हुए सर्वेश ने अपने पिता को संदेश भेजकर जानकारी दी थी कि, वह आज सेना की मीटिंग में जा रहा है। इसलिए वह चारबाग रेलवे स्टेशन पर है। लेकिन पिता को गुमराह करने वाले युवक का भांडाफोड़ हो गया। बताया जा रहा है कि पहले तो फर्जी अधिकारी ने जीआरपी की टीम को अर्दब में लेने की कोशिश की, लेकिन पोल खुलने पर वह माफी मांगने लगा। वहीं जिस तरह से सर्वेश ने अपने घर में बताया कि वह सेना में है, ट्रेनिंग भी कर चुका है और मीटिंग में है। वह सेना की वर्दी भी पहने और बाल भी सैनिकों वाले कटवाए है। कहीं ऐसा तो नहीं कि कोई यह फर्जीवाड़े का गैंग चला रहा हो या सेना की खुफिया जानकारियां लीक आउट करने के फिराक में हो। हालांकि जीआरपी आरोपी से पूछताछ कर रही है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top