शराब से परिवार तबाह न हो इसलिए महिलाओं ने किया प्रदर्शन

शराब से परिवार तबाह न हो इसलिए महिलाओं ने किया प्रदर्शनशराब ठेका की वजह से लोगो के परिवार बर्बाद हो रहे हैं।

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

उन्नाव। शहर के लोधनहार में शराब ठेका को आबादी से बाहर करने के लिए महिलाओं द्वारा किये गए प्रदर्शन के दौरान पुलिस द्वारा की गई कार्रवाई के विरोध में महिलाओं ने एसपी और डीएम को ज्ञापन दिया।

पचास से अधिक की संख्या में पहुंची महिलाओं ने कहा कि शराब ठेका की वजह से उनके परिवार बर्बाद हो रहे हैं। परिवार में कमाई करने वाले लोग आधा पैसा शराब में ही उड़ा देते हैं। परिवार तबाह होने से बच सके इसके लिए प्रदर्शन किया। महिलाओं ने कहा कि शराब ठेका को हर हाल में आबादी से बाहर करने के साथ ही उन लोगों को रिहा किया जाए जिन्हें पुलिस ने रविवार को गिरफ्तार किया था।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

शहर कोतवाली के लोधनहार में आबादी के बीच पिछले दस साल से शराब ठेका संचालित हो रहा है। शराब ठेका को आबादी से बाहर करने के लिए रविवार को मोहल्ले में रहने वाली महिलाओं ने ठेके के विरोध में प्रदर्शन किया था। इस दौरान महिलाओं ने ठेके पर पत्थर भी चलाये थे। बवाल की सूचना पर पहुंची पुलिस ने महिलाओं को खदेड़ने के साथ ही मौके से कई युवकों को हिरासत में ले लिया था।

यही नही 50 से अधिक अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज कर लिया था। पुलिस द्वारा की गई कार्रवाई के विरोध में सोमवार को 50 से अधिक महिलाएं एसपी कार्यालय पहुंची। यहां महिलाओं का कहना था कि पुलिस ने उन लोगों को गिरफ्तार किया है जिनका इस पूरे मामले से कोई लेना देना ही नही था। ठेके पर हुए पथराव के विरोध में पुलिस ने पहले तो लोगों को पीटा और फिर जिसे चाहा उसे हिरासत में ले लिया। महिलाओं का यह भी कहना था कि ठेके की वजह से उनके परिवार तबाह हो रहे हैं। परिवार को बचाने के लिए ही वह प्रदर्शन करने को मजबूर हुई हैं। महिलाओं ने पुलिस द्वारा पकड़े गए लोगों को छोड़ने और ठेके को हटाने की मांग की है।

शराब में खर्च कर देता है आधी कमाई

एसपी को ज्ञापन देने पहुंची रामरती ने बताया कि उनके पति सजीवन की तबियत खराब रहती है। बीटा राजेश मजदूरी करता है। मजदूरी में उसे जो भी पैसे मिलते हैं उसे वह मोहल्ले के ठेके पर खर्च कर देता है। ठेका अगर बंद हो जाये तो परिवार की स्थिति सुधर सकती है

हमारे बिटवा को छोड़ दो

लोधनहार में रहने वाली फुलवासा की उम्र 80 वर्ष से अधिक थी। उनके पति की कई वर्ष पहले ही मौत हो गयी थी। फुलवासा ने बताया कि रविवार को पुलिस उसके बेटे को गिरफ्तार कर लायी। पुलिस ने उसे मौके पर पीटा भी था।

बेटियों को घुमाने गया था, पुलिस उठा लायी

लोधनहार में रहने वाली विनीता ने बताया कि उनका पति उमाकांत ड्राइवरी करता है। रविवार की दोपहर वह बेटियों को लेकर घुमाने गया था। इस बीच ठेके के बाहर बवाल हुआ और पुलिस उमाकांत को गिरफ्तार कर ले गयी। विनीता का कहना था कि पथराव में असल मे जो लोग शामिल थे पुलिस ने उन्हें नही पकड़ा।

ठेके पर शराब पीने वाले करते हैं परेशान

एसपी के यहां शिकायत करने पहुंची गुलाब देवी ने बताया कि परिवार में उनके अब कोई नही बचा है। वह खुद मजदूरी कर अपना खर्च चलाती हैं। गुलाब देवी ने बताया कि ठेके के बाहर जुटने वाली भीड़ सड़क से आने जाने वालों को परेशान करती है। आये दिन मारपीट की घटनाएं भी होती हैं।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top