किसान दिवस पर छलका दर्द, अधिकारियों को गिनाई क्षेत्र की समस्याएं 

किसान दिवस पर छलका दर्द, अधिकारियों को गिनाई क्षेत्र की समस्याएं किसान दिवस पर किसानों ने अधिकारियों के सामने रखीं अपनी समस्याएं। 

जितेंद्र चौहान/स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

रायबरेली। किसानों को राज्य व केंद्र सरकार द्वारा संचालित होने वाली योजनाओं की जानकारी देने के लिए किसान दिवस का आयोजन किया गया जिसमें किसानों ने अपनी समस्याओं से अधिकारियों को अवगत कराया।

इस मौके पर उप कृषि निदेशक डीडी सिंह ने केंद्र व राज्य सरकार की ओर से किसानों को सोलर पंप व बीजों पर मिलने वाले अनुदान के बारे में किसानों को जानकारी दी। डीडी सिंह ने बताया, “इस समय जिले के लिए 114 पंपों के आवंटन का लक्ष्य किया गया है। सोलर पंपो के आवंटन के लिए अभी तक ढ़ाई हजार किसानों ने रजिस्ट्रेशन करवा लिया है। किसान दिवस के मौके पर कुछ किसान कृषि विभाग की लापरवाही पूर्ण कार्यशैली से काफी नाराज दिखाई दिए।

ये भी पढ़े- क्या सच में मनाएं किसान दिवस?

विकास भवन के महात्मा गांधी सभागार में आयोजित किसान दिवस में जिले के सभी ब्लॉकों के किसानों ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। लालगंज से आए किसान जितेंद्र कुमार (43 वर्ष) बताते हैं, “लालगंज क्षेत्र से 22 माइनर निकलती है, लेकिन इन माइनरों में 1986 से अब तक पानी की कोई सप्लाई नहीं हुई, इससे इस क्षेत्र के किसानों ने खेती से दूरी बनाना शुरू कर दिया है।”

राही ब्लॉक से आए किसान रामकृष्ण यादव (58 वर्ष) ने बताया, “वित्तीय वर्ष 2015-16 से अब तक मात्र छह नहरों की सफाई हुई है। इन नहरों की सफाई होने के बाद भी लोगों को नहरों में अभी तक पानी दर्शन नहीं हुए है।”

अन्य ब्लॉकों से आए कुछ किसानों ने धान के सीजन में नहरों में सिल्ट की सफाई न होने से जिलाधिकारी के सामने अपनी नाराजगी दर्ज कराई।

ये भी पढ़े- किसान दिवस विशेष: अपने हक के लिए किसानों को सत्ता को ललकारना होगा

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top