2022 तक किसानों की आय की जाएगी दोगुनी: सूर्य प्रताप शाही

2022 तक किसानों की आय की जाएगी दोगुनी: सूर्य प्रताप शाहीसूर्य प्रताप शाही।

लखनऊ। वर्ष 2022 तक किसानों की आमदनी दो गुनी करने का लक्ष्य है। सरकार के इसके लिए काम करना शुरू कर दी है। प्रदेश के किसानों की कर्ज माफी पर जल्द ही निर्णय लिया जाएगा। यह बातें प्रदेश के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने कही। उन्होंने अधिकारियों का निर्देश दिया कि सरकार की योजनाओं का शत-प्रातिशत लाभ किसानों को मिले और किसी भी दशा में खाद एवं बीज की कमी नहीं हो इसक ध्यान रखा जाए।

शुक्रवार को सचिवालय स्थित अपने सभाकक्ष में कृषि विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों और प्रदेश के पांचों कृषि विश्वविद्यालयों के कुलपतियों के साथ कृषि शिक्षा एवं कृषि अनुसंधान विभाग की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कृषि का विविधिकरण किया जाए।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

कृषि मंत्री ने कहा कि बुन्देलखण्ड में जिन किसानों की फसल नष्ट हो गई थी उनके लिए 28 मार्च को 46 करोड़ रुपए की सहायता दी गई है। उन्होंने कहा कि बुन्देलखण्ड क्षेत्र में 2000 तालाब बनाने की योजना है जिससे किसानों को कृषि कामों के लिए समुचित पानी मिल सकेगा। साथ ही किसानों को सोलर पम्प देने की योजना का भी विस्तार किया जाएगा।

प्रदेश के कृषि विश्वविद्यालयों की अव्यवस्था को ठीक करने, कृषि विश्वविद्यालयोंमें होने वाले अपव्यय और भ्रष्टाचार पर रोक लगाने का निर्देश भी कृषि मंत्री ने दिया। उन्होंने कहा कि कृषि विश्वविद्यालयों में पढ़ने वाले छात्रों में अच्छे गुणों एवं संस्कारों को विकसित किया जाए। कृषि विश्वविद्यालयों की ग्रेडिंग की जाए और इन्हें सेन्टर आफ एक्सीलेंस के रूप में विकसित किया जाए।

कृषि मंत्री ने कहा कि कृषि विश्वविद्यालय किसानों के हित में काम करते हुए अधिक अनाज उत्पादन के लिए अधिक उपज देने वाले बीजों को विकसित करें। उन्होंने कहा कि कालेजों में होने वाले निर्माण कार्यों की नियमित जांच की जाए। इसकी गुणवत्ता में कोई कमी नहीं होनी चाहिए।

कृषि मंत्री की इस बैठक में अधिकारियों ने बताया कि पांच कृषि विश्वविद्यालयों के छात्रों की प्रवेश परीक्षा का आयोजन मेरठ कृषि विश्वविद्यालय मेरठ की ओर से इस वर्ष कराया जाएगा। कृषि मंत्री ने कहा कि विश्वविद्यालय अपने-अपने आय के स्रोतों में बढ़ोत्तरी करें, जिससे सरकार पर निर्भरता कम हो सके। इस बैठक में कृषि राज्यमंत्री रणवेन्द्र प्रताप सिंह, प्रमुख सचिव कृषि और कृषि निदेशक सहित कृषि विभाग के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top