आजमगढ़ शराब कांड : मुख्यमंत्री जी सिर्फ पुलिस पर कार्रवाई से काम नहीं चलेगा ?

आजमगढ़ शराब कांड : मुख्यमंत्री जी सिर्फ पुलिस पर कार्रवाई से काम नहीं चलेगा ?गाँव में बनता अवैध शराब 

लखनऊ। आज़मगढ़ (रौनापार) में अवैध शराब पीने से हुई मृतकों की संख्या 7 पहुंच गई है। दोपहर में पांच लोगों की मौत की ख़बर थी। मामले में बड़ी कार्रवाई करते हुए मुख्यमंत्री के आदेश पर एसएसपी अजय साहनी ने बड़ी कार्रवाई करते हुए संबंधित थाने के सब इंस्पेक्टर सहित बीट आरक्षी को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया।

ये भी पढ़ें- योगी सरकार का फरमान, काम में सुस्त अधिकारियों को उम्र से पहले मिलेगा रिटायरमेंट

एसएसपी ने संबंधित जिम्मेदार आबकारी विभाग के निरीक्षक एवं सिपाहियों के विरुद्ध भी सख्त कार्रवाई करने के निर्देश भी दिए। राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री ने इस घटना के लिए जिम्मेदार आबकारी विभाग के निरीक्षक एवं सिपाहियों के विरुद्ध भी सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।

लखनऊ से तकरीबन 275 किलोमीटर दूर आज़मगढ़ के रौनापार में आज पांच लोगों की मौत हो गयी। मौत की वजह जहरीली शराब बताई गई। जिले के एसएसपी ने घटना की जानकारी मिलते ही बड़ी कार्रवाई की, साथ ही कड़े निर्देश भी दिए ताकि जिले में अवैध शराब के कारोबार पर लगाम लगाया जा सके। अवैध शराब पीने से जिन पांच लोगों की मौत हुई उसमें केसव पास (45 वर्ष) सोबरी (35 वर्ष) रामवृक्ष (70), चरित्रर निषाद (85), शिवकुमार (18), श्यामप्रीत (30), रामअवध (65) इनमें से पहले चार केवटैया गाँव, सगड़ी आज़मगढ़ से है और मृतक रामअवध ओढवा सलेमपुर से है। जबकि 10 लोग अस्पताल में भर्ती है।

ये भी पढ़ें- फुल टाइम नेता नहीं हूं, मुख्यमंत्री के रूप में जिम्मेदारी पूरी होते ही मठ वापस जाऊंगा: योगी आदित्यनाथ

गांव में मातम

इस पूरी घटना की जानकारी जब रौनापार थाने से ली गयी तो उस गाँव की स्थिति के बारे में पता चला और मामला और गंभीर निकला। एसआई. निरंकार गिरी ने गांव कनेक्शन को बताया, इस इलाके में 265 गाँव है। पिछले छह महीने में हमने इन्हीं गाँवों से तकरीबन 21 हजार 851 लीटर अवैध शराब बरामद की है। इस गाँव का हर घर अवैध शराब बनाता है। शासन को इस बात की पूरी जानकारी भी है, जिसमें आबकारी विभाग के अधिकारी भी शामिल है।”

वो आगे बताते हैं, “इस गाँव की सबसे बड़ी समस्या ग़रीबी है जिसके कारण यहाँ के लोग खुद जिस चूल्हे पर खाना बनाते है उसी चूल्हे पर अवैध शराब भी बनाते है। यहाँ की स्थिति इतनी ख़राब है कि अगर जोरदार बारिश हो जाए तो आप यहाँ एक कदम भी नहीं रख सकते।”

संबंधित घटना में नवीन अहमद फरीदी, एस.ओ. रौनापार को निलंबित किया गया है। हमने उनका भी पक्ष जानने की कोशिश की। इस पूरे घटना क्रम को बताते हुए फरीदी ने बताया कि इन मृतकों के तीन परिवार वालों से हमने बात की, मृतक के परिवार का कहना है कि तीन दिन से बिना खाना खाए ये लोग शराब पी रहे थे। जिससे इनकी मौत हुई है। अब आप ही बताइये हम करें तो क्या करें। अगर हम इन अवैध कामों में शामिल होते तो पिछले छह महीने में हम हजारों लीटर शराब क्यों पकड़ते। लेकिन घटना होना था हो गयी। शासन ने अपना काम किया है।”

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top