उन्नाव में अन्त्येष्टि स्थल के नाम पर हो रहा खिलवाड़

गाँव कनेक्शनगाँव कनेक्शन   21 April 2017 10:36 AM GMT

उन्नाव में अन्त्येष्टि स्थल के नाम पर हो रहा खिलवाड़अन्त्येष्टि स्थल यहां पहुंचने वालों को मुंह चिढ़ाता नजर आ रहा है।

करन पाण्डेय, स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

उन्नाव। जिले के स्थानीय घाट पर अन्त्येष्टि के लिए पहुंचने वाले लोगों को सुविधा देने के लिए सरकारी मंसूबों पर प्रशासनिक अनदेखी से पानी फिरता नजर आ रहा है। लाखों रुपए खर्च कर बनवाया गया अन्त्येष्टि स्थल वर्तमान में दुर्दशा का शिकार होकर यहां पहुंचने वालों को मुंह चिढ़ाता नजर आ रहा है।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

घाट पर सक्रिय दबंग ठेकेदारों के चलते अंतिम संस्कार नियत स्थान पर न होकर उसके बगल में कराए जा रहे हैं। इसके लिए अन्त्येष्टि स्थल तक पहुंचने वाले रास्ते पर दंबगों ने विधिवत कब्जा कर रखा है। जिला मुख्यालय से 20 किमी. पश्चिम दिशा में स्थित परियर के रहने वाले अनुज दिक्षित (30 वर्ष) बताते हैं, ‘लगभग दो साल पहले परियर में अन्त्येष्टि स्थल का निर्माण कराया गया था, जिसमें शवदाह के टीनशेड लगवाए गये थे। यहां आने वाले व्यक्तियों के बैठने लिए एक कमरा, शौचालय, हैण्डपाइप व इंटरलाकिंग जैसे कार्य होने थे। यहां कब काम शुरू हुआ और रुक गया, पता ही नहीं चला।’

मामला मेरे संज्ञान में नहीं है। यदि ऐसा है तो वहां निर्माण किस योजना से हुआ, काम क्यों अधूरा छोड़ा गया और इसमें लापरवाही किसकी है, इसकी जांच करायी जाएगी। जो भी दोषी होगा कार्रवाई की जाएगी।
मेधा रूपम, उप जिला जिलाधिकारी, उन्नाव

परियर के ही रामशंकर (45 वर्ष) बताते हैं, ‘ठेकेदारों ने अधिकारियों के मिलीभगत से घटिया सामग्री उपयोग कर आधे अधूरे काम को कागजों पर पूरा दिखा कर धन का बंदरबांट कर लिया है। नतीजा यह है कि जो भी निर्माण कार्य कराया भी वो इतना घटिया स्तर का हुआ कि कार्य पूर्ण होते ही वह ढहने लगा।’

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top