दिसंबर तक ओडीएफ होगा गोरखपुर

दिसंबर तक ओडीएफ होगा गोरखपुरगाँवों को ओडीएफ करने के लिए चाहिए साढ़े चार लाख शौचालयों की दरकार

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

गोरखपुर। गोरखपुर सहित प्रदेश के तीस जिलों को ओडीएफ (खुले में शौच मुक्त) घोषित करने के लिए मुख्यमंत्री ने लक्ष्य सौंपा है। इस लक्ष्य को हरहाल में पूरा करने केलिए गोरखपुर प्रशासन पूरी तैयारी के साथ काम कर रहा है। हालांकि जिले के गाँवों को ओडीएफ करने के लिए साढ़े चार लाख शौचालयों की दरकार है। इसके लिए शासनस्तर से मांग की जा रही है। हालांकि चालू वित्त वर्ष में 26363 शौचालय बनाने को मंजूरी दे दी गई है। स्वच्छ भारत मिशन की ओर से सभी तैयारी जोरशोर से की जा रही है।

इसी को लेकर डीएम राजीव रौतेला ने स्वच्छ भारत मिशन के अन्तर्गत चलाए जा रहे कार्यों की समीक्षा भी कर चुके हैं। जिसमें सामुदायिक व सार्वजनिक शौचालय केनिर्माण की बारिकी से अध्ययन किया। इसमें डीएम ने पीपीगंज, बासगांव, मुण्डेरा बाजार तथा गोला बाजार, बड़हलगंज, पिपराइच, सहजनवां के नगर पंचायत की प्रगतिकम होने पर डीएम नाराजगी भी जता चुके हैं। डीएम ने शौचालय निर्माण में तेजी लाने के कड़े निर्देश भी दिए हैं। डीएम ने स्पष्ट निर्देश दिया है कि इस कार्य में किसी भीप्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

ये भी पढ़ें- अब ओडीएफ टीम शहर में भी चलाएगी शौच मुक्त अभियान

गाँवों को ओडीएफ करने के लिए साढे लाख शौचालय बनाने की अभी दरकार है। इसके लिए शासन स्तर से मांग की गई है। हर-घर को शौचालय मिले इसके लिए कार्यकिया जा रहा है। चालू वित्त वर्ष में 27 हजार के करीब शौचालय बनाने को मंजूरी दी गई है। ओडीएफ की दिशा में प्रदेश सरकार को माइक्रो प्लान तैयार कर भेजा गया है। - बच्चा सिंह, जिला सलाहकार, स्वच्छ भारत मिशन, गोरखपुर।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top