कांग्रेस ने गोरखपुर में चार दिनों में 70 बच्चों की मौत को हत्या बताया,मुकदमा चलाने की मांग 

कांग्रेस ने गोरखपुर में चार दिनों में 70 बच्चों की मौत को हत्या बताया,मुकदमा चलाने की मांग कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर ।

लखनऊ (भाषा)। गोरखपुर के बाबा राघव दास मेडिकल कालेज में हुई बच्चों की मौत को हत्या बताते हुये कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर ने दावा किया कि चार दिन में वहां 70 बच्चों की मौत हो गयी है और इसकी जिम्मेदार उत्तर प्रदेश सरकार है।

उन्होंने मारे गये बच्चों के परिजनों को एक एक करोड़ रुपये का मुआवजा देने की मांग करते हुए कहा कि इस मामले में जिम्मेदार प्रदेश सरकार के लोगो पर हत्या का मुकदमा चलना चाहिये।

उन्होंने कहा, “ कौन तय करेगा कि बच्चों की यह मौत है या हत्या। सरकार का सारा ध्यान गाय, वंदेमातरम, पन्द्रह अगस्त को कौन झंडा फहरा रहा है कहां नहीं इस पर है न कि प्रदेश की जनता का दुख दर्द जानने पर। ' ' उन्होंने कहा कि जब केंद्र में संप्रग की सरकार थी तो गोरखपुर के इस मेडिकल कालेज को 150 करोड़ रुपए की आर्थिक सहायता दी गयी थी तथा अस्पताल में 100 बिस्तरों का वार्ड भी बनवाया था। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि मुख्यमंत्री इस हादसे से 48 घंटे पहले इस मेडिकल कालेज आये थे लेकिन उन्हें इस अस्पताल में गैस की कमी के बारे में मालूम नही था। 22 घंटे के बाद मुख्यमंत्री ने कल मौन तोड़ा और जांच कमेटी गठित कर दी लेकिन जांच कमेटी की रिपोर्ट आने से पहले ही अपना फैसला सुना दिया कि बच्चो की मौत आक्सीजन की कमी से नहीं हुई है। जब फैसला पहले ही सुना दिया गया तो फिर जांच किस बात की है। बब्बर ने प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री सिदार्थनाथ सिंह पर भी निशाना साधते हुये कहा कि वह कहते हैं कि अगस्त के महीने में मौते होती रहती हैं। आखिर उनकी मंशा क्या है, स्वास्थ्य मंत्री सिंह के नाना देश के पूर्व महान प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री थे।

ये भी पढ़ें:गोरखपुर में बच्चों की मौत पर एक डॉक्टर का खुला ख़त

मैं मंत्री से कहूंगा कि अपने आपको उस खानदान से अलग कर ले, उन्होंने कहा कि सरकार के सांसद साक्षी महाराज का एक बयान आज अखबारो में छपा है कि बच्चों की यह मौत नही है बल्कि नरसंहार है। इस बयान के आधार पर प्रदेश सरकार और इससे जुडे़ लोगो पर भारतीय दंड संहिता की धारा 302 के तहत हत्या का मुकदमा चलना चाहिये।

ये भी पढ़ें: गोरखपुर त्रासदी : जब मैंने अपनी तड़पती बेटी को देखने के लिए कहा तो नर्स बोली- इसका पर्चा लाओ निकालो बाहर

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top