Top

पशु चिकित्सालय में खोल दिया यूनानी चिकित्सालय, भवन ऐसा कि मरीज जाने से घबराते हैं

पशु चिकित्सालय में खोल दिया यूनानी चिकित्सालय, भवन ऐसा कि मरीज जाने से घबराते हैंजर्जर भवन में चल रहा यूनानी चिकित्सालय।

मोबिन अहमद, स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

रायबरेली। टूटा दरवाजा, टूटी-फूटी खिड़कियां और जर्जर हो चुकी दीवारें ऐसा लगता है कि कोई कबाड़ खाना हो, जबकि ये यूनानी चिकित्सालय है। सैकड़ों मरीजों को जीवनदान देने वाला यूनानी चिकित्सालय आज खुद बीमार दिखाई दे रहा है।

बछरांवा ब्लॉक से पूर्व दिशा में पांच किलोमीटर पर स्थित थुलेंडी ग्राम का यूनानी चिकित्सालय देखकर लगता ही नहीं कि यह कोई स्वास्थ्य केंद्र है। केंद्र में फार्मासिस्ट सहित तीन लोगों का स्टाफ है और वह तीनों ही जर्जर हो चुके भवन में बैठने से डरते हैं। चिकित्सालय के फार्मासिस्ट मोहम्मद उमर (52 वर्ष) बताते हैं, “मुझे इस केंद्र पर लगभग सात साल होने वाले हैं।

जब मैंने यहां ज्वाइनिंग ली थी तब हमारा चिकित्सालय एक किराए के मकान में था। दो साल पहले मकान मालिक ने हमसे मकान खाली करवा लिया। नई जगह पर चिकित्सालय बनाने के लिए हमने ग्राम प्रधान से बात की तब उन्होंने आनन-फानन में बंद पड़े पुराने पशु चिकित्सालय में हमें जगह दी।”

ये भी पढ़ें- स्कूलों की कैंटीन में पिज्जा, बर्गर, सॉफ्ट ड्रिंक पर लगा प्रतिबंध

वह आगे बताते हैं, “हमारे चिकित्सालय में थुलेंडी ग्राम के साथ-साथ आस-पास के कई गाँवों से मरीज आते हैं। एक दिन में लगभग 25 से 30 मरीजों का उपचार किया जाता है। मकान इतना जर्जर है कि अंदर बैठने में डर लगता है कि कहीं छत गिर न जाए। बारिश के मौसम में छत टपकने से स्थिति इतनी खराब हो जाती है कि हमें दवाओं को प्लास्टिक के थैलों में भरकर रखना पड़ता है।” वहीं थुलेंडी ग्राम निवासी सुरेंद्र पाठक (58 वर्ष) बताते हैं, “जिन बीमारियों का इलाज कहीं न हो वह बीमारियां जड़ी-बूटी से सही हो जाती हैं। मैं पेट का मरीज था बाहर मैंने खूब इलाज करवाया पर ठीक नहीं हुआ फिर मैं यूनानी चिकित्सालय गया लेकिन अब तो वहां जाने से भी डर लगता है।

मकान इतना जर्जर है कि कब गिर जाए पता नहीं।” नए चिकित्सालय केंद्र के निर्माण के बारे में थुलेंडी ग्राम प्रधान कमालुद्दीन (40 वर्ष) बताते हैं, “नए चिकित्सालय भवन निर्माण के लिए हमने प्रस्ताव डाला था और वह पास भी हो गया है। भवन निर्माण के लिए हमने जगह भी तय कर ली है। जल्द से जल्द निर्माण कार्य शुरू करा दिया जाएगा।”

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.