काकोरी: दर्जनों गाँवों के हैण्डपंप ख़राब, आंखे बंद कर बैठा है विभाग

काकोरी: दर्जनों गाँवों के हैण्डपंप ख़राब, आंखे बंद कर बैठा है विभागविकास खण्ड काकोरी के दर्जनों गाँवों में सरकारी हैण्डपंप खराब पड़े हैं।

श्वेतांक गौरव, स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

लखनऊ। विकास खण्ड काकोरी के दर्जनों गाँवों में सरकारी हैण्डपम्प खराब पड़े हैं, जिससे इस भीषण गर्मी में लोगों को पीने के पानी की किल्लत है। कई बार ग्रामीणों ने इसकी शिकायत सम्बन्धित विभाग से की, लेकिन समस्या का समाधान नहीं हुआ।

विकास खण्ड काकोरी इलाके के दर्जनों गाँवों में ड़िघिया, कलिया खेड़ा, दोना, मोहदीपुर दुर्गागंज, इमामबाग, बिगहूं, करझन मण्डौली सिकरोहरी समेत दर्जनों गाँवों में लगे सरकारी हैंडपंप खराब पड़े हैं। ऐसे में लोगों को एक मोहल्ले से दूसरे मोहल्ले से पानी लेने जाना पड़ रहा है। इमामबाग निवासी ज्ञान सिंह (23 वर्ष) ने बताया, “हमारे गाँव का नल करीब आठ महीने से खराब पड़ा है जो कि मस्जिद के पास है और ऐसी गर्मी में जब लोग नमाज अता करने के लिए आते हैं तो प्यास बुझाने के लिए पानी नहीं मिलता है।” वहीं काकोरी के बिगहूं गाँव के राम सिंह यादव (45 वर्ष) ने बताया, “हमारे गाँव में दो नल खराब पड़े हैं इसकी शिकायत प्रधान से की गई, लेकिन अभी तक कोई नल नहीं बना।” दोना निवासी सतीश कुमार ने बताया, “हमारे गाँव का नल इसलिए नहीं बना कि इसकी शिकायत कोई नहीं करता है।”

ये भी पढ़ें- सीतापुरः मूंगफली की खेती के क्षेत्रफल को दोबारा बढ़ाने का किया जा रहा प्रयास

वहीं मोहदीपुर निवासी राज कुमार रावत (35 वर्ष) ने बताया, “मेरे गाँव में भी करीब एक वर्ष से अधिक समय से नल खराब पड़ा हुआ है। हमारे गाँव के करीब 70 लोगों को दूसरी जगह से पानी लाना पड़ता है। हमने इसकी शिकायत सचिव से भी किया पर हैण्डपम्प नहीं बना।” विकास खण्ड अधिकारी काकोरी सर्वेश कुमार तिवारी ने बताया, “सरकारी हैण्डपम्प खराब है तो ग्राम पंचायत सचिव से भी बताने पर हैण्डपम्प ठीक हो जाएगा और अगर बोरिंग खराब है तो रिबोर करा दिया जाएगा।”

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top