Top

यूपी सरकार का पांचवां बजट देखिए लाइव, वित्त मंत्री ने कहा- स्वावलंबन और आत्मनिर्भरता पर केंद्रित है 2021-22 का बजट

उत्तर प्रदेश सरकार अपना पांचवां बजट पेश कर रही है। यूपी के वित्त मंत्री सुरेश खन्ना सदन में पेपरलेस बजट पेश कर रहे हैं।

उत्तर प्रदेश में पहली बार पेपरलेस बजट पेश किया जा रहा है। योगी सरकार में वित्त मंत्री सुरेश खन्ना बजट 2021-22 पेश कर रहा है। ये बजट हिंदी में है आप इस बजट को यहां सुन सकते हैं। उन्होंने कहा कि 2021-22 के बजट का केंद्र बिंदु स्वावलंबन से सशक्तिकरण पर केंद्रित है। उन्होंने कहा कि 2022 तक किसानों की आमदनी दोगुनी करने के लिए सरकार प्रयासरत है,..

वित्त मंत्री के भाषण के प्रमुख अंश

-05 लाख 50 हजार 270 करोड़ 78 लाख के आकार का वित्तीय वर्ष 2021-22 बजट उत्तर प्रदेश का समग्र विकास सुनिश्चित करने तथा राज्य की अर्थव्यवस्था को 01 ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमी बनाने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है।

-प्रदेश के किसानों को सामाजिक सुरक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से प्रारंभ की गई मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना के अंतर्गत 600 करोड़ की धनराशि प्रस्तावित की गई है।

-प्रदेश सरकार राज्य के किसानों की आय को दोगुना करने के लिए कृतसंकल्पित है। इसी क्रम में वित्तीय वर्ष 2021-22 से आत्मनिर्भर कृषक समन्वित विकास योजना संचालित की जाएगी। इस योजना के क्रियान्वयन हेतु 100 करोड़ का प्रावधान किया गया है।

-इसी क्रम में वित्तीय वर्ष 2021-22 से आत्मनिर्भर कृषक समन्वित विकास योजना संचालित की जाएगी। इस योजना के क्रियान्वयन हेतु 100 करोड़ का प्रावधान किया गया है।

-वित्तीय बजट 2021-22 में विधान मंडल क्षेत्रों के विकास कार्यों के लिए मंडल क्षेत्र विकास निधि हेतु 2,000 करोड़ की धनराशि प्रस्तावित की गई है।

-किसानों को रियायती दरों पर फसली ऋण उपलब्ध कराए जाने के लिए अनुदान हेतु 400 करोड़ की धनराशि का प्रावधान

-ग्रामीण भू-स्वांमियों को स्थाजयी व निरंतर आय का स्रोत प्रदान करने हेतु प्रधानमंत्री किसान ऊर्जा सुरक्षा एवं उत्थान महाभियान के अंतर्गत वित्तीय वर्ष 2021-22 में 15,000 सोलर पंप की स्थापना का लक्ष्य रखा गया है।

-महिलाओं का आर्थिक स्वावलंबन सुनिश्चित करने के लिए वित्तीय वर्ष 2021-22 से महिला सामर्थ्य योजना का संचालन किया जाएगा। इस नई योजना के लिए 200 करोड़ की धनराशि प्रस्तावित।

-महिलाओं एवं बच्चों में कुपोषण की समस्या के निदान हेतु मुख्यमंत्री सक्षम सुपोषण योजना वित्तीय वर्ष 2021-22 से क्रियान्वित की जाएगी। इस योजना के लिए बजट में 100 करोड़ रुपए आवंटित।

-राज्य की महिलाओं के उत्थान के लिए समर्पित उत्तर प्रदेश सरकार ने वित्तीय वर्ष 2021-22 में मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना को और परिष्कृत कर लागू करने का निर्णय लिया है।

देखिए वीडियो..

खबर अपडेट हो रही है...


Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.