सीबीआई को नहीं मिल पाए आईएएस अनुराग तिवारी के पहने कपड़े 

सीबीआई को नहीं मिल पाए आईएएस अनुराग तिवारी के पहने कपड़े आईएएस अनुराग तिवारी। फाइल फोटो : साभार इंटरनेट

लखनऊ। कर्नाटक कैडर के आईएएस अनुराग तिवारी ने मौत से पहले जो कपड़े पहने थे उसे हिफाजत न रख पाने के चलते राजधानी पुलिस वह कपड़े सीबीआई को नहीं सौंप पाई। मौत के वक्त वह कपड़े सीबीआई के लिए जांच के वक्त कारगर साबित होते, लेकिन उसको भी पुलिस ने नष्ट कर दिया। पुलिस की इस बड़ी चूक के चलते आईएएस मौत की जांच कर रही सीबीआई टीम को मुसिबतों का सामना करना पड़ रहा है। वहीं इस केस से जुड़े कई ऐसी लापरवाही उजागर हुई है, जो आईएएस की मौत की जांच कर रही एसआईटी टीम पर प्रश्नचिन्ह उठाती है।

अनुराग तिवारी का शव जब हजरतगंज पुलिस को मिला था, उस वक्त अनुराग ने लोअर और टी-शर्ट पहन रखा था, जिसे पोस्टमार्टम के वक्त उतारा जाता है, जिसके बाद उन कपड़ों को मौके पर मौजूद पुलिसकर्मी को अपने कब्जे में लेकर फोरेंसिक लैब को जांच के लिए भेज दिया जाता है। जबकि पुलिस ने ना कपड़े कब्जे में लिया और ना ही उसे जुड़े कई अन्य सबूतों को। वहीं इस मामले में फोरेंसिक टीम की भी लापरवाही उजागर हुई है, जहां फोरेंसिक टीम ने घटनास्थल की मिट्टी तक एकत्र नहीं किया। साथ ही मौके पर मिले ब्लड सैम्पल को भी एकत्र करने की फोरेंसिक के डॉक्टरों ने जहमत नहीं उठाई। इस संबंध में सीबीआई टीम ने एसआईटी सहित उन पुलिस अधिकारियों से बात की है, जो घटना के वक्त पल-पल मौजूद थे। बावजूद इसके उन पुलिसकर्मियों के पास आईएएस की मौत से जुड़े अहम सबूत नहीं है।

संबंधित खबर : यूपी पुलिस ने खड़े किए हाथ, आईएएस मौत की जांच सीबीआई को

उधर सीबीआई ने राजधानी के उन पब की भी जांच की जो देर रात तक खुले रहते हैं, इसके पीछे सीबीआई टीम की आशंका है कि कही देर रात तक आईएएस ने किसी पब में पार्टी तो नहीं की थी। वहीं, टीम ने सेंट्रल फोरेंसिक लैब को एक पत्र लिख कर कहा है कि आईएएस के विसरा के आधार पर ड्रग्स के ओवरडोज की भी जांच कर सीबीआई टीम को जांच रिपोर्ट सौंपे। दूसरी ओर सीबीआई टीम ने बुधवार को दोबारा से पोस्टमार्टम करने वाले डाक्टरों से दोबारा से पूछताछ की है। साथ ही इस पूछताछ में टीम ने आईएएस के कपड़े के बारे में पूछा, जिसके जवाब में पीएम करने वाले डॉक्टरों का जवाब था कि, किसी संदिग्ध मामले में म़ृतक के कपड़े संबंधित पुलिस अपने कब्जे में ले लेती है, जबकि इस मामले में पुलिस ने ऐसा कुछ नहीं किया।

सीबीआई ने एलडीए वीसी के कर्मचारियों से की पूछताछ

कर्नाटक कैडर के आईएएस अनुराग तिवारी की मौत के मामले में सीबीआई का शिकंजा कसता जा रहा है। जहां इस केस से जुड़े मुख्य कड़ी एलडीए वीसी प्रभुनारायण सिंह के कर्मचारियों से बुधवार शाम सीबीआई टीम ने कई घंटों तक पूछताछ की। वीसी पीएन सिंह के करीबी अफसरों से भी शाम 4 बजे पूछताछ के लिए सीबीआई ने अपने कार्यालय बुलाया। व्यवस्थाधिकारी अशोक पाल सिंह, वीसी के पीएसओ विशाल, ड्राइवर सुभाष, उतबीर हसन से हुई पूछताछ। वहीं सूत्रों की मानें तो सीबीआई एलडीए वीसी पीएन सिंह से सभी सबूत एकत्र होने के बाद ही पूछताछ के लिए बुलाएंगी।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top