जेई और एईएस से बचाव के लिए टीकाकरण अभियान कल से होगा शुरू, मुख्यमंत्री योगी करेंगे शुभारंभ

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • koo
जेई और एईएस से बचाव के लिए टीकाकरण अभियान कल से होगा शुरू, मुख्यमंत्री योगी करेंगे शुभारंभप्रतीकात्मक तस्वीर

लखनऊ। जेई यानि जापानी इंसेफेलाइटिस एक्यूप इंसेफ्लोपैथी सिंड्रोम (एईएस) बच्चों व किशोरों को बचाने के लिए स्वास्थ्य विभाग 25 मई से टीकाकरण अभियान शुरू करने जा रहा है। इससे एक दिन पहले यानि आज इस वृहद टीकाकरण अभियान पर प्रेस कांफ्रेंस हुई, जिसमें अभियान के बारे में चर्चा कर रणनीति तैयार की गई। यह अभियान कुशीनगर की मुसहर बस्ती से शुरू होगा। अभियान का समापन आगामी 11 जून को होगा। इसकी सभी आवश्यक तैयारियां पूरी कर ली गई हैं।

ये भी पढ़ें : जापानी बुखार से 10 हजार मासूमों की मौत, लेकिन नेताओं के लिए ये मुद्दा नहीं


इससे पहले उत्तर प्रदेश के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य कल्याण विभाग ने जेई और एक्यूप इंसेफ्लोपैथी सिंड्रोम (एईएस) के बारे में एक चेकलिस्ट जारी की है। इस चेकलिस्ट में इन बीमारियों की प्रशिक्षण बैठकें, प्रचार प्रसार गतिविधियां, वेक्टर नियंत्रण गतिविधियां, जेई, एईएस के मामलों के प्रबंधन को मज़बूती प्रदान करना आदि के बारे में बताया गया है। पूर्वांचल के 38 ज़िलों में यह अभियान चलाया जाएगा। 25 मई को इसका शुभारंभ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कुशीनगर से करेंगे व 11 जून को इसका समापन श्रावस्ती में होगा।

जेई एक खतरनाक बीमारी

जेई और एईएस बीमारियां मच्छर के काटने से होती हैं। जेई एक वायरल बीमारी है, जो मच्छरों के काटने से होती है। जेई रोग के कारण तंत्रिका तंत्र प्रभावित होता है एवं गंभीरता की स्थिति में रोगी की मृत्यु हो जाती है। जेई रोग से मृत्युदर लगभग 20-30 प्रतिशत होती है एवं जीवित बचे व्यक्तियों में 30-50 प्रतिशत मानसिक एवं शारीरिक विकलांगता आ सकती है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।


    

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.