उन्नाव के एक फिलिंग स्टेशन की जांच में पांच लीटर में चार सौ मिली लीटर पेट्रोल कम मिला, मशीन सील

उन्नाव के एक फिलिंग स्टेशन की जांच में  पांच लीटर में चार सौ मिली लीटर पेट्रोल कम मिला, मशीन सीलफाइल फोटो।

श्रीवस्त अवस्थी, स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

उन्नाव। राजधानी की तरह ही उन्नाव जिले में भी पेट्रोल पंपो पर घटतौली का खेल धड़ल्ले से चल रहा है। इसका खुलासा मंगलवार को की गई जांच में हुआ। सिटी मजिस्ट्रेट के साथ ही जिला पूर्ति निरीक्षक, बांट मांप निरीक्षक व इंडियन ऑयल के आईएसओ ने शहर के सात पंपो की जांच की। जहां एक पंप पर प्रति पांच लीटर में चार सौ एमएल तक की घटतौली मिली। जिस पर अधिकारियों ने कंपनी द्वारा पूरी तरह से जांच न कर लेने तक तेल की बिक्री रोकते हुए उक्त मशीन सील कर दी। इसके बाद लगातार कई अन्य पंप की भी जांच की गई। जहां छानबीन के दौरान टीम को कुछ भी गड़बड़ नहीं मिला।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

वहीं लखनऊ कानपुर हाईवे पर मशीनों में लगे नोजल की सील खुली मिलने पर पंप को पूरी तरह से सील कर दिया गया। जांच टीम को आशंका है कि यहां चिप के जरिए पेट्रोल चोरी की जा रही थी। हालांकि मामले का खुलाशा होने के बाद चिप हटा दी गई। जिससे नोजल में लगी सील टूट गई। अधिकारियों का कहना है कि उक्त पंप का लाईसेंस निरस्त कराने की कार्रवाई की जाएगी। उधर मंगलवार को पेट्रोल पंपो पर हुई कार्रवाई के बाद संचालकों के बीच हडक़ंप मचा हुआ है।

पेट्रोल की मात्रा कम देख दंग रह गए अधिकारी

पेट्रोल पंपो पर चल रही घटतौली को संज्ञान में लेते हुए मंगलवार को सिटी मजिस्ट्रेट अशोक कुमार, जिला पूर्ति निरीक्षक नईम अख्तर, बांट माप निरीक्षक के साथ ही इंडियन ऑयल के आईएसआे अनूप सिंह ने शहर के पेट्रोल पंपो पर चेकिंग अभियान चलाया। इस दौरान उन्होंने सबसे पहले हरदोई आेवरब्रिज के निकट उन्नाव फिलिंग स्टेशन में जांच की। यहां सबसे पहले मशीनों में घटतौली के लिए प्रयोग की जा रही चिप की तलाश की लेकिन मशीनों में किसी तरह की चिप नहीं लगी मिली। इसके बाद पेट्रोल व डीजल की क्वांटिटी की जांच शुरू की गई।

ग्राहकों के साथ लूट को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। आने वाले समय में यह कार्रवाई जारी रहेगी। शहरी क्षेत्र के साथ ही ग्रामीण क्षेत्र के पेट्रोल पंपो की भी जांच होगी। जहां कमियां मिलने पर फौरन कार्रवाई की जाएगी।
नसीम अख्तर, डीएसओ, उन्नाव

जांच के दौरान जब पहली बार पेट्रोल की मात्रा नापी गई तो पांच लीटर में दो सौ सत्तर मिलीलीटर पेट्रोल कम मिला। इसके बाद दोबारा पेट्रोल की मात्रा जांची गई। जहां पेट्रोल की मात्रा कुछ कम हो गई। शंका होने पर अधिकारियों ने एक बार फिर नाप कराई। इस दौरान पांच लीटर के मेजर में घटतौली की मात्रा चार सौ मिलीलीटर पर पहुंच गई। लगातार कम हो रही पेट्रोल की मात्रा पर जब पंप संचालक से बात की गई तो उन्होंने मशीन में खराबी का जिक्र किया। हालांकि अधिकारियों ने घटतौली को गंभीरता से लेते हुए उक्त मशीन को सील कर दिया।

मात्रा के साथ घनत्व की हुई जांच

उन्नाव फिलिंग स्टेशन पर मशीन सील करने के बाद जांच टीम मोती नगर स्थित त्रिपाठी फिलिंग सेंटर पहुंची। यहां पेट्रोल की मात्रा के साथ ही घनत्व की जांच की गई। लगभग बीस मिनट की जांच के दौरान यहां अधिकारियों को किसी तरह की गड़बड़ी नहीं मिली। हालांकि जांच के दौरान यहां लोगों की भीड़ जरूर जुट गई थी। जांच टीम के दौरान मौजूद रही पुलिस ने लोगों को किसी तरह से हटाया। उन्नाव फिलिंग स्टेशन में जांच के बाद टीम ने शहर के गांधी नगर स्थित राधारानी फिलिंग स्टेशन में भी जांच की। यहां घनत्व की जांच के साथ मशीन में चिप की तलाशी हुई। लेकिन टीम को कुछ भी गड़बड़ नहीं मिला। जिसके बाद टीम ने जमुना प्रसाद कन्हैयालाल और लखनऊ कानपुर राजमार्ग स्थित अमर हाईवे पेट्रोल पंप, इंस्पायर फिलिंग स्टेशन की भी जांच की। यहां भी टीम को सब कुछ दुरुस्त मिला।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top