मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, महिलाओं की समस्याओं का जल्द होगा निराकरण

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, महिलाओं की समस्याओं का जल्द होगा निराकरणमुख्यमंत्री कार्यक्रम 

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में बड़ी संख्या में आईटी कंपनियां लगे और यह प्रदेश आईटी हब बने इसके लिए केन्द्र सरकार मदद करेगी। उत्तर प्रदेश में छोटे-छोटे शहरो में बीपीओ खोलने की योजना पर काम किया जाएगा। मंगलवार को हाईकोर्ट में कामन सर्विस सेंटर के उदघाटन अवसर पर केन्द्रीय संचार एवं विधि मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कही। इस अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा आम लोगों को त्वरित न्याय दिलाने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि महिलाओं और पारिवारिक वादों से संबंधित मामलों का निस्तारण जल्द से जल्द हो इसको लेकर उनकी सरकार काम कर रही है।

ये भी पढ़ें- न्याय के क्षेत्र में एक नई क्रांति है कामन सर्विस सेंटर : मुख्यमंत्री

इस अवसर पर संचार मंत्री, कानून मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने कहा कि 6 महीने में उत्तर प्रदेश के 100 हॉस्पिटल ई -हॉस्पिटल पर आ रहे हैं। आईटी के क्षेत्र में सबको अवसर मिलेगा। उत्तर प्रदेश के नौजवानों में आईटी के प्रति चाहत है। हम छोटे-छोटे शहरों में बीपीओ लगाएंगे। बीपीओ में महिलाओं को प्राथमिकता दी जाएगी। गाजीपुर, उन्नाव और बरेली में बीपीओ लगाए जाएंगे। 1500 सीटों का BPO बुंदेलखंड में खोला जाएगा। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के 500 कॉमन सर्विस सेंटर को टेली लॉ से जोड़ा गया है। हमारी कोशिश है कि यूपी आईटी हब बने और इसकी अगुवाई करे।

मुख्यमंत्री कार्यक्रम लखनऊ

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि डिजिटल इंडिया का प्रचार-प्रसार हो रहा। डिजिटल इंडिया देश को बदलने का कार्यक्रम है। उन्होंने केन्द्र सरकार की उपलब्धियों को बखान करते हुए कहा कि 28 करोड़ गरीबों के खाते खोले गए हैं। जिसमें सीधे सब्सिडी दी गई है। डिजिटल व्यवस्था से सरकार ने 50 हज़ार करोड़ की सब्सिडी बचाई है।

मुख्यमंत्री योगी कार्यक्रम

उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी का जिक्र करते हुए कहा कि एक पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा था दिल्ली से 1 रुपया भेजो तो 15 पैसे गरीबों पर पहुंचता है। लेकिन हमारी सरकार ने इस व्यवस्था को सुधार दिया। ई- हॉस्पिटल, ई-मंडी की हमारी सरकार ने शुरूआत की। 2 करोड़ बच्चों को ई स्कॉलरशिप दी जा रही है। 10 लाख पेंशनर अपने जीवित होने का डिजिटल प्रमाण पत्र दे लिए हैं। डिजिटल इंडिया से देश को फायदा ही फायदा है। उन्होंने कहा कि कॉमन सार्विस सेंटर के लोग डिजिटल इंडिया के जमीनी सिपाही बनकर काम कर रहे हैं। हमोर गृह राज्य का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि बिहार में कॉमन सर्विस सेंटर से महिलाओं मज़बूत हो रही हैं।

ये भी पढ़ें- बीजेपी मुख्यालय में मचा हडकंप, पुलिस के छूटे पसीने

इस असर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि गरीबों को सस्ता और सुलभ न्याय दिलाने के लिए सरकार काम शुरू कर दी है। उन्होंने कहा कि विषम हालातों के बावजूद लोक अदालत सफल रहा है। योगी ने कहा कि मौजूदा न्याय व्यवस्था पर ब्रिेटेन का असर है। लेकिन हमारे देश में वैदिक काल से न्यायिक प्रक्रिया का वर्णन मिलता है। प्राचीन व्यवस्था में दंड और न्याय प्रक्रिया धर्म की व्यापकता में समाहित थी। धर्म के खिलाफ कार्य करने वालों के लिए दंड की व्यवस्था थी। उस व्यवस्था में दंड के साथ प्रायश्चित की भी व्यवस्था थी।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top