यूपी बोर्ड में कन्नौज के रिजल्ट में सात फीसदी की आई गिरावट

यूपी बोर्ड में कन्नौज के रिजल्ट में सात फीसदी की आई गिरावटसरस्वती विद्या मंदिर इंटर कालेज तिर्वा में रिजल्ट देखते शिक्षक।

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

कन्नौज। माध्यमिक षिक्षा परिशद इलाहाबाद बोर्ड का कन्नौज जिले का परीक्षा परिणाम पिछले साल के मुकाबले इस वर्ष कम रहा है। इसके पीछे लोग तरह-तरह के कयास लगा रहे हैं।

डीआईओएस केपी सिंह यादव कहते हैं, ‘‘इस साल हाईस्कूल का परीक्षा परिणाम 84.02 फीसदी और इंटर का 82.82 प्रतिषत रहा। हाईस्कूल में 33,656 छात्र-छात्राएं पंजीकृत थे। परीक्षा में 25,357 षामिल हुए, जिसमें 21,305 बच्चे पास हुए।’’ डीआईओएस बताते हैं, ‘‘इंटर में पंजीकृत 25,076 बच्चों में 24,108 ने परीक्षा दी। 19,967 परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए।’’

पिछले साल हाईस्कूल का रिजल्ट 91.10 फीसदी और इंटर का 87.63 फीसदी रहा था। वर्ष 2016-17 का हाईस्कूल में करीब छह फीसदी और इंटर में करीब पांच फीसदी रिजल्ट नीचे आया।

गौतम बुद्ध इंटर कालेज तिर्वा के प्रबंधक देवेन्द्र प्रताप सिंह ने बताया, ‘‘हाईस्कूल में 84 बच्चों ने परीक्षा दी थी। 71 ससम्मान पास हुए। 13 प्रथम श्रेणी में। इसी तरह इंटर में 92 में से 68 छात्र-छात्राएं 75 फीसदी से 93.6 फीसदी तक अंक लाए। 24 ने प्रथम श्रेणी में परीक्षा उत्तीर्ण की। षत-प्रतिषत रिजल्ट कालेज का रहा।’’

सरकारी कालेजों ने किया निराश, लगे रहे ताले

यूपी बोर्ड में भी निजी स्कूलों का दबदबा रहा। अधिकतर सरकारी स्कूलों के तो ताले भी नहीं खोले गए। वित्तविहीन कालेजों में प्रधानाचार्य, प्रबंधक समेत कई शिक्षक परीक्षा परिणाम घोषित होने की वजह से पहुंचे थे। उन्होंने निजी खर्च पर रिजल्ट निकाले। जो बच्चे अच्छे नंबर से पास हुए उनको सूचना देकर घर से तुरंत बुलाया। बच्चों का स्वागत किया गया। मिष्ठान बांटे गए। वहीं दूसरी ओर भारी-भरकम तनख्वाह वाले स्कूलों के गेट बंद रहे। यहां यह बताने वाला भी नहीं था कि बच्चों का उत्तीर्ण प्रतिशत कितना रहा।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top