उत्तर प्रदेश कृषि में गिरती विकास दर पर मंथन करने शुक्रवार को लखनऊ आएंगे कृषि मंत्री राधामोहन सिंह 

उत्तर प्रदेश कृषि में  गिरती विकास दर पर मंथन करने  शुक्रवार को लखनऊ आएंगे कृषि मंत्री राधामोहन सिंह केंद्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह।

लखनऊ। केन्द्र सरकार की तमाम सहायता योजनाओं के बाद भी उत्तर प्रदेश कृषि में लगातार पिछड़ रहा है। प्रदेश में कृषि की गिरती विकास दर को संभालने और उसको ऊपर ले जाने के लिए केन्द्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह के नेतृत्व में कृषि विशेषज्ञों की एक टीम शुक्रवार को लखनऊ आ रही है। उत्तर प्रदेश के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही और कृषि विभाग के अधिकारियों के साथ केन्द्रीय मंत्री समीक्षा बैठक करेंगे।

उत्तर प्रदेश के पड़ोसी राज्य केन्द्र सरकार की योजनाओं का लाभ उठाकर लगातार आगे बढ़ रहे हैं, खासकर मध्य प्रदेश इसका उदारहण है जहां की विकास दर दहाई के आंकड़े को पार कर गई है। वहीं उत्त प्रदेश को कृषि की विभिन्न योजनाओं केा जो पैसा मिल रहा है वह पूरा खर्च भी नहीं हो पा रहा है।

उत्तर प्रदेश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

पिछली पंचवर्षीय योजना साल 2012 में यूपी कुल उत्पादन 659 लाख टन ले जाने का लक्ष्या था लेकिन यह आंकड़ा बढ़ने की बजाय नीचे ही हा रहा है। पांच साल पहले देश के फूड बास्केट में उत्तर प्रदेश की हिस्सेदारी 20.5 फीसदी तक थी, जो देश में सबसे अधिक था लेकिन अब इसमें गिरावट आई है यह 19 फीसदी से भी नीचे पहुंच गया है।

देश के फूड बास्केट में यूपी के गेहूं की हिस्सेदारी 35 प्रतिशत तक थी जो घटकर 19 फीसदी तक पहुंच गई है। यह प्रदेश के लिए चिंता की बात है। ऐसे में देश के फूड बास्केट में यूपी की हिस्सेदारी बढ़ाने और यहां के किसानों की आय साल 2022 तक दोगुनी कैसी की जाए इसकेा लेकर केन्द्रीय टीम मंथन करेंगी।

Share it
Top