शाह के लखनऊ पहुंचते ही सपा-बसपा में उथल पुथल

शाह के लखनऊ पहुंचते ही सपा-बसपा में उथल पुथललखनऊ पहुंचने पर अमित शाह का भव्य स्वागत किया गया।

लखनऊ। अमित शाह के लखनऊ आते ही शनिवार को सूबे की राजनीति जबरदस्त तरीके से गरमा गई। सपा और बसपा में उथलपुथल शुरू हो गई। सपा के तीन और बसपा के एक एमएलसी ने अपने पदों से इस्तीफा विधान परिषद के सभापति को दे दिया। जिसके बाद में इन चारों नेताओं के भाजपा में जाने को लेकर कयास लगाए जाने लगे हैं।

सपा से राणा यशवंत सिंह, बुक्कल नवाब और मधुकर जेटली ने एमएलसी पद छोड़ते हुए सपा को भी टाटा बाय बाय बोला। जबकि बसपा से ठाकुर उदयवीर सिंह ने एमएलसी पद से इस्तीफा दे दिया। दूसरी ओर, सियासी पंडितों का मानना है कि सपा से अम्बिका चाैधरी और बसपा से अलग हुए नसीमुद्दीन सिद्दीकी भी भाजपा का दामन अगले तीन दिन में थाम सकते हैं। जिसके बाद में आने वाले समय में होने वाले उपचुनावों को लेकर तस्वीर बहुत हद तक साफ हो जाएगी। जिससे भाजपा के ऐसे मंत्री जो विधायक नहीं हैं, उनके रास्ते को साफ कर दिया जाएगा।

ये भी पढ़ें- शिवपाल संभाल सकते हैं यूपी में जेडीयू की बागडोर

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह तीन दिन के लिए लखनऊ आए हुए हैं। उनके आने से पहले ही सपा से मधुकर जेटली, राणा यशवंत सिंह और बुक्कल नवाब ने एमएलसी पद छोड़ कर सपा से भी पीछा छुड़ा लिया। ये तीनों नेता मुलायम शिवपाल खेमे के बताए जा रहे हैं। जो अखिलेश का प्रभुत्व होने के बाद से ही खुद को कमजोर मान रहे थे। इसके अलावा बुक्कल नवाब पर भाजपा सरकार आने के बाद भूमाफिया एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था। मधुकर जेटली भी बस नाममात्र के ही एमएलसी बने हुए थे।

कई परेशान नेता थामेंगे भाजपा का दामन

मायावती पर अनेक आरोप लगा कर बसपा छोड़ने वाले नसीमुद्दीन सिद्दीकी खुद को भाजपा से जोड़ने की तैयारी कर रहे हैं। उनसे जुड़े सूत्रों का कहना है कि, नसीमुद्दीन इन दिनों एक राजनीतिक मंच की तलाश कर रहे हैं। खुद को भाजपा में फिट बताते हुए बहुत जल्द ही भगवा गमछा पहन लेंगे। दूसरी ओर अम्बिका चोधरी जिन्होंने चुनाव में बसपा का दामन थामा था, वे भी बसपा छोड़ कर भाजपा में शामिल होने की तैयारी में लगे हुए हैं।

ये भी पढ़ें- आखिर क्यों अमित शाह को राज्यसभा का चुनाव लड़ने की पड़ रही जरूरत

Share it
Share it
Share it
Top