उत्तर प्रदेश बजट 2018 में कुम्भ मेले को मिले 1500 करोड़ रुपए  

उत्तर प्रदेश बजट 2018 में कुम्भ मेले को मिले 1500 करोड़ रुपए  इलाहाबाद में संगम का दृश्य। फोटो : साभार विकीपीडिया

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने वित्तीय वर्ष 2018-19 के लिए आज विधानसभा में पेश बजट में कुम्भ सहित आध्यात्मिक आयोजनों और गोवंशीय पशुओं के रखरखाव पर भी खास ध्यान दिया है।

वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल द्वारा पेश किए गए बजट में अगले साल के शुरू में इलाहाबाद में आयोजित होने वाले कुम्भ मेले के लिए 1500 करोड़ रुपए की व्यवस्था की गई है।

मालूम हो कि राज्य सरकार आगामी कुम्भ मेले को यादगार बनाने के लिए कृत संकल्पित है और इसके लिए अभी से युद्धस्तर पर तैयारियां की जा रही हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तैयारियों का लगातार जायजा ले रहे हैं।

ये भी पढ़ें- जानिए किसको क्या-क्या मिला योगी के दूसरे बजट में

ब्रज परिक्षेत्र में तीर्थ पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए ब्रज तीर्थ विकास परिषद की स्थापना की गई है। बजट में वहां अवस्थापना सुविधाओं के विकास के लिए 100 करोड़ रुपए की व्यवस्था प्रस्तावित है।

ये भी पढ़ें- ऐसे जाने, ग्राम पंचायत को कितना मिला पैसा, और कहां किया गया खर्च

बजट में गाजियाबाद में कैलाश मानसरोवर भवन के निर्माण के लिए 94 करोड़ 26 लाख रुपए की व्यवस्था प्रस्तावित की गई है।

इसके अलावा, छुट्टा पशुओं की समस्या को लेकर लगातार विपक्ष के निशाने पर खड़ी योगी सरकार ने गोवंशीय पशुओं के रखरखाव और छुट्टा पशुओं की समस्या को दूर करने के लिए बजट में कान्हा गौ-शाला एवं बेसहारा पशु आश्रय योजना के लिये 98 करोड़ 50 लाख रुपए की व्यवस्था की है।

ये भी पढ़ें- यूपी बजट: ग्रामीण क्षेत्रों में आयुर्वेद को बढ़ावा

ये भी पढ़ें- यूपी बजट LIVE : गेहूं खरीद के लिए 5500 केंद्र बनाए जाएंगे, सीएम फल उद्यान योजना लागू

साथ ही देशी नस्ल की गायों के माध्यम से सर्वाधिक गौ दुग्ध उत्पादन करने वाले दुग्ध उत्पादकों को प्रोत्साहित करने के लिए नई नन्द बाबा पुरस्कार योजना की मद में 52 लाख रुपए तथा गोकुल पुरस्कार के लिए 54 लाख रुपए की व्यवस्था भी की गई है।

ये भी पढ़ें- ज़मीन न मिल पाई, इसलिए ‘ हवा ’ में चल रहे किराए पर कृषि यंत्र उपलब्ध कराने वाले केंद्र

ये भी पढ़ें- खुशखबरी : रेलवे ने 90 हजार पदों के लिए मांगे आवेदन, अंतिम तिथि 12 मार्च  

उत्तर प्रदेश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

इनपुट भाषा

फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top