किसानों को ऋण अदायगी का नोटिस नहीं जारी करें बैंक : योगी अादित्यनाथ

किसानों को ऋण अदायगी का नोटिस नहीं जारी करें बैंक : योगी अादित्यनाथयोगी आदित्यनाथ।

लखनऊ (भाषा)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी बैंकों को निर्देश देने के लिए कहा है कि वे राज्य सरकार का बजट पारित होने तक फसल ऋण माफी योजना से लाभान्वित होने वाले किसानों को ऋण अदायगी के लिए कोई नोटिस जारी नहीं करें।

योगी ने फसली ऋण योजना के क्रियान्वयन के सम्बन्ध में आज एक उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता करते हुए वित्त विभाग को प्रभावी निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने राज्य सरकार का 2017-18 का बजट पारित होने के तत्काल बाद लघु एवं सीमान्त किसानों की फसली ऋण माफी की समतुल्य धनराशि बैंकों को उपलब्ध कराते हुए किसानों को ऋण माफी सम्बन्धी प्रमाण-पत्र प्रदान किये जाने के निर्देश दिए।

राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि कर्ज माफी प्रमाण-पत्र 86 लाख लघु एवं सीमान्त किसानों के बीच जाकर उपलब्ध कराए जाएंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि संवैधानिक व्यवस्था के तहत बजट पारित कराकर योजना को लागू किया जाए।

उत्तर प्रदेश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

योगी ने कहा कि सभी बैंकों को स्पष्ट निर्देश दे दिये जाएं कि राज्य सरकार का बजट पास होने तक वे इस योजना से लाभान्वित होने वाले किसानों को ऋण अदाएगी के लिए कोई नोटिस न जारी करें। उन्होंने निर्देशित किया कि तत्काल राज्यस्तरीय बैंकर्स समिति की बैठक आहूत करके इस योजना का प्रभावी क्रियान्वयन सुनिश्चित किया जाए।

वर्तमान सरकार ने अपनी पहली कैबिनेट बैठक में लघु एवं सीमान्त किसानों के 31 मार्च, 2016 तक के एक लाख रुपए तक के फसली ऋण को माफ किए जाने का निर्णय लिया था।

Share it
Share it
Share it
Top