उत्तर प्रदेश में रबी, खरीफ फसल की सिंचाई व्यवस्था सुनिश्चित करेंगे ‘जनपद सिंचाई बंधु’ 

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   4 July 2017 4:01 PM GMT

उत्तर प्रदेश में रबी, खरीफ फसल की सिंचाई व्यवस्था सुनिश्चित करेंगे ‘जनपद सिंचाई बंधु’ नहरों की सिंचाई की व्यवस्था।

लखनऊ (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश में अब रबी, खरीफ फसलों की सिंचाई व्यवस्था ‘जनपद सिंचाई बंधु’ सुनिश्चित करेंगे। इसकी जानकारी प्रमुख सचिव (सिंचाई) सुरेश चन्द्रा दी।

उत्तर प्रदेश में किसानों की समस्याओं को ग्राम प्रधान खंड विकास कार्यालय के माध्यम से सिंचाई बंधु को अवगत कराएंगे। सिंचाई बंधु में आने वाली किसानों की समस्याओं का निस्तारण एक निर्धारित तिथि पर किया जाएगा, ताकि किसान व्यक्तिगत रूप से अपनी समस्या से अवगत करा सकें।

इस सम्बन्ध में प्रमुख सचिव (सिंचाई) सुरेश चन्द्रा ने कहा, "सिंचाई मंत्री धर्मपाल सिंह के निर्देश पर 'जनपद सिंचाई बंधु' का गठन किया गया है। उनका निर्देश है कि प्रत्येक बैठक में समस्याओं पर की गई कार्यवाही की सूचना अगली बैठक में निश्चित रूप से प्रस्तुत की जाए व जिन समस्याओं का समाधान जनपद स्तर पर संभव न हो, उसका विवरण मंडलीय अधीक्षण अभियंता को भेजा जाए, ताकि उचित स्तर पर निर्णय लेकर समाधान किया जा सके।"

उन्होंने बताया कि 'जनपद सिंचाई बंधु' के माध्यम से रबी एवं खरीफ की बुवाई से पूर्व सिंचाई व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए क्षेत्रीय विकास समितियों की विशेष बैठक आयोजित की जाएगी।

उत्तर प्रदेश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

उन्होंने बताया कि 'जनपद सिंचाई बंधु' सिंचाई समस्याओं पर प्रत्येक माह में एक बार तहसील स्तर पर बैठक करेंगे, जिसमें आम किसानों को अपनी समस्याएं रखने का अवसर मिलेगा। बैठक में सिंचाई विभाग के सम्बन्धित सहायक अभियन्ता/जिलेदार नियमित रूप से उपस्थित रहेंगे।

प्रमुख सचिव ने बताया कि सम्बन्धित मण्डलीय अधीक्षण अभियन्ता एवं क्षेत्रीय मुख्य अभियन्ता भी प्रत्येक माह कम से कम एक जनपद के सिंचाई बन्धु की बैठक में भाग लेंगे एवं यह भी सुनिश्चित करेंगे कि सिंचाई बन्धु की बैठक नियमित हो तथा किसानों की समस्याओं का समाधान निर्धारित समय पर हो।

उन्होंने कहा कि नलकूपों के संचालन एवं देख-रेख के लिए ब्लाक स्तर पर ब्लाक सिंचाई बंधु (नलकूप) की स्थापना भी सरकार द्वारा की जाएगी।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top