ग्रामीण इलाकों में अब भी खुले इलाकों में बेचा जा रहा मीट

ग्रामीण इलाकों में अब भी खुले इलाकों में बेचा जा रहा मीटग्रामीण क्षेत्रों में खुले में बिना पंजीकरण के मीट का अवैध कारोबार चल रहा है।

रामू गौतम, स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

लखनऊ। सरकार द्वारा अवैध मीट की दुकानों को बंद करने के निर्देश के बावजूद जनपद लखनऊ में अभी भी ग्रामीण क्षेत्रों में खुले में बिना पंजीकरण के मीट का अवैध कारोबार चल रहा है।

जनपद लखनऊ के थाना मलिहाबाद क्षेत्र के रहीमाबाद चौराहे के आस-पास व रहीमाबाद बाजार में बिना पंजीकरण के खुलेआम मुर्गा, बकरा, बकरी का गोश्त बिक रहा है। रहीमाबाद निवासी सामाजिक कार्यकर्त्ता सरनाम सिंह यादव (42 वर्ष) का कहना है, “कई बार मलिहाबाद कोतवाल से शिकायत की, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई।”

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

रहीमाबाद निवासी राजेंद्र तिवारी (38 वर्ष) का कहना है, “रहीमाबाद चौराहे से लेकर बाजार तक करीब आधा दर्जन मीट की दुकानें खुले में तीन बजे से लग जाती हैं। स्थानीय पुलिस शिकायत के बावजूद कार्रवाई नहीं करती।” मलिहाबाद थाना अध्यक्ष धर्मपाल उपाध्याय ने बताया, “उच्चाधिकारियों द्वारा इन मीट की दुकानों को बंद करने का कोई लिखित आदेश नहीं मिला है, इसलिए इन पर अबतक कोई कार्रवाई नहीं की गयी।”

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top