‘एंटी रोमियो दल’ लड़कियों के अपहरणकर्ताआें को भी सिखाएगा सबक

‘एंटी रोमियो दल’  लड़कियों के अपहरणकर्ताआें को भी सिखाएगा सबक‘एंटी रोमियो स्क्वॉड’ के सदस्यों को प्रशिक्षण देते अधिकारी।

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा गठित एंटी रोमियो दल अब सिर्फ मजनुआें को ही नहीं, बल्कि लड़कियों के अपहरणकर्ताओं को भी सबक सिखाएंगे। इसके निर्देश दल को दे दिए गए हैं। उच्च अधिकारियों की माने तो पूरी तैयारी कर ली गई है और अब दल सभी थानों से ऐसे मामलों की अपडेट लेगा। आईजी नवनीत सिकेरा ने आज एंटी रोमियो सेल की कार्यशाला के दौरान सदस्यों को इस सूचना से अवगत कराया। साथ ही इसके लिए बकायदा सदस्यों को प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

आईजी नवनीत सिकेरा ने कार्यशाला में सभी सदस्यों को गाइडलाइन का पालन करने के सख्त निर्देश दिए। साथ ही किसी भी प्रमी जोड़े को उठक-बैठक से बचने की हिदायत दी। उन्होंने एंटी रोमियो स्क्वॉड के उद्देश्य, काम करने के तरीके, क्या करना है और क्या नहीं करना है व इसकी प्रक्रिया के बारे में विस्तार से बताया।

ये भी पढ़ें: यूपी : सड‍़क छाप आशिकों के खिलाफ चलाए गए एंटी रोमियो अभियान की जबरदस्त लोकप्रियता

कार्यशाला में सीओ बबिता सिंह ने कहा कि अभी तक की कार्रवाई के दौरान देखा गया है कि शोहदों को पकड़ने के दौरान सदस्यों द्वारा कई बार आम जन को भी मुश्किलें आती हैं। कई जिलों में वसूली के भी मामले सामने आये, इससे बचना होगा, क्योंकि इससे सरकार की महत्वपूर्ण योजना पर सवालियां निशान खड़ा हो जायेगा।

थाने में लड़कियों के लापता केस की अपडेट लेगा 1090

आईजी नवनीत सिकेरा के मुताबिक, यूपी में घर से गुमशुदा लड़कियों की भी 'वीमेन पॉवर लाईन 1090' अपने संसाधनों से ट्रैकिंग कर उन्हें उनके घर पहुंचाने का काम करेगा। उन्होंने बताया कि नाबालिग लड़कियों को बहला-फुसलाकर ले जाना, प्रेम में फंसाकर या झांसा देकर उन्हें सेक्स रैकेट में धकेलने जैसी बाते सामने आती रही हैं। ऐसे मामलों में लड़की के घरवाले गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाते हैं। इसके आधार पर पूरे प्रदेश से लापता लड़कियों की बरामदगी की जायेगी।

ये भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश की तर्ज पर बिहार में भी मनचलों पर नकेल कसने के लिए ‘एंटी-रोमियो स्क्वैड’ बने : सुशील मोदी

उन्होंने बताया कि संबंधित थाने को सीडीआर से लेकर हर तरह की मदद की जायेगी, जिससे लापता लड़कियों को खोजने में आसानी हो। वहीं आईजी ने कहा कि इसके लिए पूरे प्रदेश के सभी थानों से लड़कियों की गुमशुदगी का डेटा मंगवाया जाएगा। डेटा एकत्र करके जिन थाना क्षेत्रों से लड़की लापता हुई है, वहां के थानेदार को बुलाकर जानकारी मांगी जायेगी, जिससे कार्रवाई में आसानी हो।

नाबालिग की शादी कराने की सोचने वाले अभिभावकों की होगी काउंसलिंग

वीमेन पॉवर लाइन के आईजी नवनीत सिकेरा की माने, तो अब वह लड़कियां भी 1090 में अपनी शिकायत दर्ज करा सकती हैं, जिनकी शादी उनके मां-बाप उनकी बगैर मर्जी के करवा देते हैं। ऐसे मामलों में लड़की की शिकायत पर उनके अभिभावकों को बुलाकर उनकी काउंसलिंग की जायेगी। साथ में यह भी पूछताछ की जायेगी कि उन्होंने जबरन शादी क्यों करवाई। ऐसे मामलों में लड़की की भी काउंसलिंग की जायेगी।

ये भी पढ़ें: एंटी रोमियो स्क्वायड कैबिनेट में हुई सराहना, प्रेमियों को परेशान करने पर पुलिसवाले भी नपेंगे

इस योजना को शुरू करने का मकसद केवल घरेलू हिंसा में कमी लाना है। आपको बता दें कि 30 मई तक चलने वाली इस कार्यशाला में सभी 18 रेंज के पुलिसकर्मियों को बुलाकर प्रशिक्षित किया जायेगा। कार्यशाला में सीओ 1090 बबिता सिंह, साइक्लोजिस्ट डॉ. नेहा आनंद सहित कई पुलिसकर्मी मौजूद रहे।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top