Top

किडनी कांड की जांच के लिए गठित हुई टीम, दो हफ्ते में सामने आएगी रिपोर्ट

किडनी कांड की जांच के लिए गठित हुई टीम, दो हफ्ते में सामने आएगी रिपोर्टबाराबंकी के पृथ्वीराज के परिवार वालों ने लगाया था आरोप

लखनऊ। बाराबंकी से रेफर किए गए मरीज की किडनी चोरी के मामले में शुक्रवार को जांच समिति का गठन किया गया। यह चार सदस्यीय जांच समिति एसपीजीआई के नेफ्रालॉजी विभाग के विभागाध्यक्ष प्रो. आरके शर्मा की अध्यक्षता में बनाई गई है जो दो सप्ताह में अपनी जांच रिपोर्ट पेश करेगी।

बाराबंकी के रहने वाले पृथ्वीराज का 2015 में एक्सीडेंट हो गया था जिसके बाद उन्हें बाराबंकी जिला अस्पताल से ट्रामा सेंटर लखनऊ रेफर किया गया। एक महीने आराम करने के बाद पृथ्वीराज के पेट में अचानक दर्द उठने लगा और बाद में स्थानीय डॉक्टर की अल्ट्रासाउंड रिपोर्ट में सामने आया कि मरीज की एक किडनी नहीं है। इसके बाद ही परिवार वालों ने आरोप लगाया कि ट्रामा सेंटर में ऑपरेशन के दौरान मरीज की एक किडनी निकाल ली गई है। गांव कनेक्शन ने इस खबर को प्रमुखता से छापा था।

यहां देखें वीडियो

इसके बाद आज (शुक्रवार) चिकित्सा शिक्षा मंत्री आशुतोष टंडन ने केजीएमयू के डॉक्टरों पर किडनी चोरी के आरोपों के जांच के लिए समिति के गठन की बात कही। टंडन ने बताया कि जांच समिति में अध्यक्ष के अलावा केजीएमयू लखनऊ के यूरोलॉजी विभाग के विभागाध्यक्ष प्रो. एसएन शंखवार, केजीएमयू के ही फोरेंसिक मेडिसिन विभाग के विभागाध्यक्ष प्रो. अनूप कुमार वर्मा और डॉ. अनित परिहार, एडिशनल प्रो. रेडियोडायग्नोसिस के.जी.एम.यू. सदस्य के रूप में शामिल किये गए हैं।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.